वियतनाम में खुदाई के दौरान मिला 9 वीं शताब्दी का शिवलिंग, 1100 साल पुराना है शिवलिंग

2093

भारतीय सभ्यता और संस्कृति दुनिया के हर कोने में फैली हुई है. कई बार दुनिया के अलग अलग देशों में भारतीय सभ्यता और संस्कृति से जुडी चीजें मिलती रही है. दक्षिण पूर्व में स्थित एक छोटे से देश वियतनाम में हाल ही में खुदाई के दौरान बलुआ पत्थर से बनी शिवलिंग मिली है. वियतनाम एक बौद्ध संस्कृति वाला देश है. यहाँ पहले भी बौद्ध और हिन्दू संस्कृति से जुड़ी चीजें मिलती रही है. कई बार यहाँ चौथी शताब्दी के बौद्ध और हिन्दू संस्कृति के चिन्ह मिले हैं. बताया जा रहा है कि ये बुधवार को खुदाई में मिला शिवलिंग नौंवी शताब्दी का है. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी ट्विटर पर दी. शिवलिंग पूरी तरह से सुरक्षित है. यह शिवलिंग वियतनाम के माई सोन मंदिर परिसर की खुदाई के दौरान एएसआई को मिला है.

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्विटर पर लिखा , ‘9वीं शताब्दी का अखंड बलुआ पत्थर शिवलिंग वियतनाम के मई सन मंदिर परिसर में जारी संरक्षण परियोजना की नवीनतम खोज है. एएसआई की टीम को बधाई.’

इस मंदिर में पहले भी कई बार खुदाई हुई है और यहाँ भगवान राम और सीता की शादी की कलाकृति और नक्काशीदार शिवलिंग प्रमुख हैं. माई सन मंदिर वियतनाम के क्वांग नाम प्रांत के दुय फू गांव के पास स्थित है. अब ये मंदिर क्षतिग्रस्त अवस्था में है. वियतनाम युद्ध के दौरान अमेरिकी बमबारी में ये मंदिर तबाह हो गये था. इसका निर्माण चंपा के राजाओं ने चौथी से 14वीं शताब्दी के बीच कराया था. इस मंदिर में भगवान कृष्ण, विष्णु तथा शिव की मूर्तियां है. प्राचीन काल में वियतनाम का चंपा क्षेत्र एक हिंदू राज्य था और हिंदू धर्म का गढ़ था. यहाँ चम समुदाय का शासन था. बाद में इन लोगों ने बौद्ध और इस्लाम अपना लिया. वियतनाम के इस इलाके में अब भी हिन्दू धर्म का प्रभाव देखा जा सकता है.