असम को भारत से अलग करने का सपना देखने वाला देशद्रोही शरजील इमाम अभी तक लापता है. उसके पीछे 5 राज्यों की पुलिस पड़ी है. उसके खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज हो चूका है. उसका देशविरोधी भाषण वायरल हो गया, हर कोई देख और सुन रहा है लेकिन उसकी माँ को वो अभी तक मासूम बच्चा ही लगता है. शरजील की माँ अपने देशद्रोही बेटे के समर्थन में उतर आई है और पुलिस पर ही गंभीर आरोप लगा दिए हैं.

बिहार पुलिस ने जहानाबाद में शरजील को पकड़ने के लिए उसके घर पर छापेमारी की लेकिन वो मिला नहीं. अब उसकी माँ अफशां परवीन अपने बेटे के बचाव में कह रही है कि उनके बेटे के बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया. पुलिस उन्हें परेशान कर रही है. शरजील की माँ ने कहा है कि, ‘शरजील की मां ने कहा, ‘वह (शरजील) चोर, उचक्का नहीं है, जो फरार रहे, वह जल्द ही सामने आएगा.’

शरजील की मां अफशां परवीन ने आरोप लगाया है कि उनका बेटा जैसा दिखाया जा रहा है, वैसा नहीं है. उन्होंने कहा, ‘मेरे बेटे को फंसाया जा रहा है. वह केवल एनआरसी का विरोध कर रहा था. उसके बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया जा रहा है.’

JNU के छात्र और शाहीन बाग़ का मास्टरमाइंड शरजील ने अपने भाषण में कहा था कि, ‘हमारे पास संगठित लोग हों तो हम असम से हिंदुस्तान को हमेशा के लिए अलग कर सकते हैं. परमानेंटली नहीं तो एक-दो महीने के लिए असम को हिंदुस्तान से कट कर ही सकते हैं. रेलवे ट्रैक पर इतना मलबा डालो कि उनको एक महीना हटाने में लगेगा…जाना हो तो जाएं एयरफोर्स से. असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है.’