लोगों ने दिया पुलिस को एक हफ्ते का वक़्त, अगर शाहीन बाग़ खाली नही कराया तो हम खुद करा लेंगे

4160

पिछले एक महीने से शाहीन बाग़ में प्रदर्शनकारियों ने सड़क पर कब्जा कर रखा है. लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. नोएडा की तरह आने वाला कालिंदी कुंज मार्ग पिछले एक महीने से बंद पड़ा है जिस कारण लोगों को और स्कूली बच्चों को घूम कर आना पड़ता है. इसके अलावा वहां पत्रकारों से मारपीट भी हो रही है और सड़क पार कर रहे लोगों को जबरदस्ती रोका जा रहा है और बेहूदगी भी की जा रही है. जिस कारण परेशान लोगों ने अब खुद प्रदर्शनकारियों से निपटने का फैसला किया है. अब लोकला लोग ही प्रदर्शनकारियों के कब्जे से सड़क को छुड़ाने के लिए सड़क पर उतरेंगे.

स्थानीय लोगों ने पुलिस को एक हफ्ते का वक़्त दिया है. सरिता विहार के लोग सरिता विहार के एसीपी अजब सिंह से मुलाक़ात की और कहा कि अगर एक हफ्ते में जाम नहीं खुलवाया गया तो लोग सड़कों पर उतरेंगे. स्थानीय लोगों की योजना है कि 2 फरवारी को सड़क पर उतर कर सड़क कब्जाने वालों के खिलाफ प्रदर्शन किया जाए.

इसी बीच शाहीन बाग़ में प्रदर्शन का असली एजेंडा सामने आने लगा है. वहां से कई ऐसे भाषण वायरल हो रहे हैं जिसमे देश विरोधी बातें की जा रही है. इसको लेकर जो शुरू में हौवा खड़ा किया गया था कि ये देश के लोगों का विरोध प्रदर्शन है वो बस मुस्लिमों का प्रदर्शन बन कर रह गया है. इस एब्स कुछ वामपंथी मीडिया पोर्टल ही हवा दे रहे हैं और इसे क्रांति बताने की कोशिश में लगे हुए हैं. लेकिन जैसे जैसे दिन गुजरते जा रहे हैं, शाहीन बाग़ का सच सामने आता जा रहा है.