शाहीन बाग़ में अपने तीन महीने के बच्चे को मा’रने वाली बेर’हम माँ ने सरकार को ठहराया जिम्मेदार

1581

शा-हीन बा-ग़ में तीन महीने के बच्चे मोहम्मद जहान की ठण्ड से मौ’त हो जाने के बाद उसकी नि’र्दयी माँ ने सरकार को कोसा है और अपने बच्चे की मौ’त की जिम्मेदारी सरकार के सिर पर डाल दी है. जबकि अपने बेटे की मौ-त की जिम्मेदार वो खुद है क्योंकि ठण्ड के महीने में वो अपने मासूम को प्रदर्शन पर ले कर जाती थी. लेकिन उसकी बेश’र्मी देखिये, मासूम को मा’र कर वो गर्व से कहती है कि उसका बच्चा म’रा नहीं श’हीद हुआ है.

म’र चुके ब’च्चे की माँ नाजिया का कहना है कि उसके दो और बच्चे हैं और वो उन्हें भी प्रदर्शन में ले कर जाती रहेगी क्योंकि ये प्रदर्शन उनके भविष्य के लिए है. आप सोच रहे होंगे कि कैसी नि’र्दयी माँ है जो अपने ब’च्चे को एक झूठे प्रोपगैंडा का शिकार बना कर उसपर गर्व भी कर रही है. उसका कहना है कि उसका बच्चा किसी अच्छे कारण के लिए म’रा है. या हूँ कहें कि उसका कहना है कि उसने अच्छे कारण के लिए अपने बच्चे को मा’रा है.

नाजिया सरकार पर ऐसे आरोप लगा रही है मानों सरकार ने ही उसे कहा हो कि वो अपने तीन महीने के अबोध बच्चे को लेकर जनवरी के भीषण ठण्ड में धरने पर ले कर जाए. वो भी उस चीज के बारे में जिसके बारे में उसे पूरी जानकारी भी नहीं है. अगर वो किसी और देश में होती तो अपने बच्चों के प्रति इतनी लापरवाही बरतने की वजह से उसके बाकी बच्चे भी उससे छीन लिए जाते. लेकिन नजमा जैसी औरतों को अपने बच्चों से प्यार से ज्यादा मोदी से न’फर’त है और उस नफ’रत की वेदी पर वो अपने बच्चों की ब’लि देने से भी नहीं हिचकती.