शाहीन बाग़ में सड़क खाली कराने उतरे आम लोग, डेढ़ महीने से सड़क पर कब्ज़ा कर बैठे हैं प्रदर्शनकारी

1379

करीब पिछले डेढ़ महीनों से दिल्ली के शाहेने बैग में कुछ महिलायें सड़क पर कब्ज़ा कर के बैठीं हैं. इनका कहना है कि ये नागरिकता संसोधन क़ानून यानी कि CAA का विरोध कर रही है और जब तक सरकार CAA को वापस नहीं लेती तब तक वो नहीं उठेंगी. इन महिलाओं को कई वामपंथी संगठन और मुस्लिम संगठन फंडिंग कर रहे हैं. जाहिर सी बात है सारा काम धाम छोड़ कर कोई सड़क पर बैठेगा तो घर चलाने के लिए कोई फंड ही करेगा.

सड़क पर कब्जे के कारण सरियता विहार से दिल्ली आने के लिए कालिंदी कुंज मार्ग बंद कर दिया गया जिस कारण लोगों को काफी घूम कर DND फ्लाईओवर से होकर नोएडा आना पड़ता है. वक़्त की बत्बादी होती है सो अलग.

लेकिन अब लोगों का धैर्य जवाब दे गया और अब वो शाहीन बाग़ खाली कराने के लिए सड़क पर उतर आये हैं. उन्होंने पहले ही ऐलान किया था कि अगर 2 फ़रवरी तक सड़क खाली नहीं हुई तो वो खुद खाली करा लेंगे. ज्यादातर लोग आसपास के ही हैं जो पिछले डेढ़ महीने से बंद सड़क की वजह से परेशानी उठा रहे हैं.

सड़क खुलवाने के लिए लोग फरीदाबाद और बल्लभगढ़ से भी आये हैं. ये सभी लोग सड़क बंद होने से परेशान हैं. इनलोगो का कहना है कि धरना देना है तो रामलीला मैदान या जंतर मंतर पर जा कर देना चाहिए. ऐसे सड़क पर कब्जा करने से लोगों को परेशानी हो रही है. किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए मौके पर काफी पुलिस बल मौजूद हैं.