अमित शाह से मिलने को लेकर शाहीन बाग़ की प्र’दर्शन’कारी महिलाओं में पड़ गयी फू’ट

2320

देशभर में नागरिकता संशोधन कानून के वि’रोध में प्र’दर्शन चालू है. जहाँ एक तरफ गृहमंत्री अमित शाह ने साफ बोल दिया है कि CAA और NRC पर लिए गए फै’सले को वापस नहीं लिया जायेगा वहीं लगातार इसके खि’लाफ वि’रोध प्र’दर्शन चालू है. कुछ जगहों पर CAA और NRC के खि’लाफ हिं’सक प्र’दर्शन और आ’ग’जनी जैसी घ’टना भी सामने आयी. तो जा’मिया से लेकर शाहीन बाग़ तक एक ही ह’फ्ते में तीन बार गो’ली’बारी की वा’र’दातों को अंजाम दिया गया.

बता दें CAA और NRC के खि’लाफ 2 महीनों से दिल्ली के JNU से लेकर जामिया और शाहीन बाग़ में लगातार प्र’दर्शन चालू हैं. जहां एक तरफ लोग धरने पर बैठे लोग CAA और NRC के फैसले का पुरजोर वि’रोध कर रहे हैं. वहीं सरकार भी अपने फैसले पर अटल खड़ी हुई हैं. आपको बता दें शाहीन बाग़ में धरने पर बैठी CAA के खि’लाफ महिलाओं ने गृहमंत्री से मिलने के प्रस्ताव पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी हैं.

ये महिलाये दो महीने से शाहीन बाग़ में CAA, NRC और NPR का लगातार वि’रोध कर रही हैं जिसके बाद अब गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि अगर कोई भी CAA के बारे में उनसे बात करना चाहता है तो उसके पास तीन दिन का समय है कभी भी उनसे बात कर सकता हैं. जिसके बाद से शाहीन बाग़ में कुछ महिलाओं ने गृहमंत्री अमित शाह के इस प्रस्ताव पर सहमति जाहिर की. लेकिन बात करने के पक्ष में आयी महिलाओं और वि’रोधी दल दोनों के बीच में म’त’भेद बन गया हैं.

वहीं बताया जा रहा है कि गृहमंत्री अमित शाह से मिलन का समय तय हो चुका हैं. जिसमें यह दल रविवार को 2 बजे अमित शाह के साथ बातचीत करेगा. अब यह तो आज पता चलेगा इस बातचीत में महिलाओं के दल में कौन कौन शामिल होगा. लेकिन कही न कहीं चुनाव ख’त्म होने के बाद से शाहीन बाग़ अब धीरे धीरे साफ़ होता नजर आ रहा हैं और उसके सरकार की तरफ रुख बदलने से कयास लगाए जा रहे हैं कहीं यह शाहीन बाग़ के मु’द्दे को चुनाव के समय में एक ड्रामे की तरह तो उपयोग नहीं किया गया विपक्षी पार्टी के जरिये.