उत्तर प्रदेश में एक और काण्ड आया सामने, छात्रा को कार में खिंच कर रे’प की कोशिश

2634

अभी तो देश हैदराबाद और उन्नाव में हैवा’नियत से संभाला भी नहीं था कि उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में भी एक दिल दह’लाने वाली खबर आ रही है जिस कारण उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था पर सवाल खड़े हो गए हैं. खबर के मुताबिक़ कार सवार चार युवकों ने बस स्टॉप पर स्कूल बस का इंतज़ार कर रही 15 वर्षीय छात्रा को अपनी कार में खिंच लिया और चलती कार में उसके साथ रे’प करने की कोशिश करने लगे. लोगों ने बैक से पीछा कर लड़की को बचाया.

प्रतीकात्मक तस्वीर

ये घटना 17 नवंबर की है लेकिन उसकी रिपोर्ट 3 हफ़्तों बाद दर्ज हो पायी क्योंकि पुलिस रिपोर्ट दर्ज करने में आनाकानी कर रही थी. नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक़ 17 नवंबर को पीडिता अपनी माँ के साथ बस स्टॉप पर स्कूल बस का इंतज़ार कर रही थी तभी एक कार में सवार चार बदमाशों ने छात्रा को कार में खिंच लिया और चलती कार में ही उसके कप’डे उता’रने की कोशिश करने लगे. लड़की की माँ ने शोर मचाया तो लोगों ने बाइक से कई किलोमीटर तक कार का पीछा किया और लड़की को बचाया. हालाँकि सभी आरोपी कार सहित फरार होने में कामयाब रहे.

पीड़ित छात्रा के परिजनों के मुताबिक़ जब वो रिपोर्ट दर्ज कराने पुलिस स्टेशन गए तो पुलिस ने केस दर्ज करने में आनाकानी की. एसपी अभिषेक दीक्षित के दखल के बाद पुलिस ने तीन हफ़्तों बाद आईपीसी की धारा 354ए, 364 और पॉक्सो ऐक्ट के सेक्शन 7, 8 के तहत केस दर्ज किया गया है. इन सभी घटनाओं के बाद पुलिस की लापरवाही से उत्तर प्रदेश में क़ानून व्यवस्था पर बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं और सरकार विपक्ष के निशाने पर है.