विधानसभा चुनाव से पहले सफाई कर्मचारियों के इस बड़े नेता ने बीजेपी से नाता तोड़ थामा आप का दामन

697

दिल्ली में 8 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गयी है. चुनावों से पहले उठा-पठक भी शुरू हो गयी है. चुनावों से पहले जहाँ एक ओर बीजेपी ने पूरा जोर इस चुनाव को जीतने में लगा दिया है तो वहीं दूसरी और पार्टी की मुश्किलें थमने का नाम नही ले रही हैं. अब एक और बड़ी खबर आ रही है जिससे बीजेपी को झटका लग सकता है.

जानकारी के लिए बता दें अखिल भारतीय सफाई मजदूर संघ दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष संजय गहलोत ने अपने समर्थकों के साथ भाजपा को छोड़ आम आदमी पार्टी का दामन थाम लिया है. “आप” पार्टी के संयोजक और मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने उनका टोपी और माला पहनाकर स्वागत किया और पार्टी की सदस्यता दिलाई. संजय गहलोत के आप पार्टी में जाने से बीजेपी को बड़ा झटका लगा है.

आप में शामिल होने के बाद सीएम अरविन्द केजरीवाल ने भरोसा दिलाया है कि उनकी सरकार बनने के बाद वह सफाई कर्मचारियों को पक्का करने के लिए एमसीडी पर दवाब बनायेंगे साथ ही तीनों एमसीडी का एकीकरण करने के लिए संघर्ष भी करेंगे. जिससे मजदूरों को उनका हक़ दिलवाया जा सके. संजय गहलोत शुरू से ही सफाई कर्मचारियों के हितों के लिए संघर्ष करते आए हैं.

गौरतलब है कि उनके आप में शामिल होने के बाद सीएम अरविन्द केजरीवाल ने प्रेस वार्ता करते हुए बताया कि संजय गहलोत ने कई बार हमारी सरकार के खिलाफ हड़ताल की थी जोकि ये गलतफहमी का शिकार थे. इन्हें लगता था कि हमारी सरकार एमसीडी को पैसे नहीं दे रही है लेकिन बाद में इन्हें समझ गया कि इसमें कसूर दिल्ली सरकार का नहीं है.