संजय दत्त की जिंदगी से जुड़ी ये बातें जो आपको फिल्म में नहीं बताई गई

2204

आज 29 जुलाई है, यानी  ‘बाबा’ संजय दत्त का जन्मदिन, वो आज अपना 60वां जन्मदिन मना रहे हैं. वैसे आपको याद हो तो 2018 में एक फिल्म आई थी, ‘संजू.’ रणबीर कपूर स्टारर संजय दत्त की ये बायॉपिक साल की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी. हालाँकि, लोगों के इस फिल्म पर अलग अलग प्रतिक्रिया थी. बहुतों का मानना था की ये फिल्म केवल संजय दत्त की छवि सुधरने के लिए बनाई गई थी.

लेकिन, फिल्म में एक बहुत ही संवेदनशील मुद्दे को दिखाया गया है, जो की ड्रग्स से जुदा हुआ है. फिल्म में ये बात स्पष्ट रूप से दिखाई गई है कि किस तरह ड्रग्स की लत किसी की जिंदगी बर्बाद कर सकती है. फिल्म आपको न  सिर्फ ड्रग्स से होने वाले नुकसान से अवगत कराती है बल्कि नशे की लत से लड़ने के लिए भी प्रेरित करती है.

वैसे संजू बाबा की जिंदगी के कुछ और ऐसे पहलु हैं, इनके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं. आज उनके जन्मदिन के अवसर पर पहले उनके जन्म के जुडी बात कर लेते हैं. जब नरगिस प्रेगनेंट थीं तो नरगिस और सुनील दत्त ने अखबार में बच्चे के नाम के लिए इश्तेहार छपवाया था. इसमें उन्हें उनके होने वाले बच्चे के लिए नाम के सुझाव मांगे थे. सभी नामों में से नरगिस को ‘संजय’ नाम काफी पसंद आया था और उन्होंने तय कर लिया कि बेटा होने पर उसका नाम ‘संजय’ रखेंगे.

संजय दत्त के जीवन से जुडी एक और दिलचस्प बात है की उनकी डेब्यू फिल्म ‘रॉकी’ के समय उनकी मां कैंसर के लास्ट स्टेज में थी, उनकी आखिरी इच्छा थी कि वह संजू की पहली फिल्म देख सकें, लेकिन रिलीज के 5 दिन पहले ही गुज़र गई. संजय को आज भी इस बात का मलाल है की वो अपनी माँ को परदे पर अपनी पहली फिल्म नहीं दिखा पाए.

संजय को नशे की लत तो माँ की तबियत बिगड़ने के बाद से ही लग गई थी, लेकिन उनके गुजरने के बाद उनकी इस लत ने भयावह रूप ले लिया. ‘रॉकी’ की शूटिंग के समय संजय दत्त और टीना मुनीम के अफेयर की चर्चा थी. हालांकि, बाद में उनकी शराब की लत के कारण दोनों का ब्रेकअप हो गया.

इसके बाद टीना मुनीमऔर ऋषि कपूर एक फिल्म में एक साथ काम कर रहे थे. ऐसे में ऋषि कपूर और टीना के अफेयर की अफवाह उड़ने लगी. ये खबर सुनते ही संजू को इतना गुस्सा आया कि वह ऋषि कपूर को पीटने उनके घर पहुँच गए थे. वह अपने दोस्त गुलशन ग्रोवर को साथ ऋषि के घर गए थे. नीतू कपूर के बीच-बचाव करने पर संजय दत्त को बात समझ आई और वो वहां से चले गए.

संजय दत्त की जिंदगी किसी फिल्मी किस्से से कम नहीं है, उतार-चढ़ावों और विवादों से भरी हुई, लेकिन कहते हैं न की अंत में सब कुछ सही ही होता है, उन्होंने भी अपनी खुशहाल जिंदगी बसा ही ली, आज वो अपनी बेवी ममता और दोनों बच्चों के साथ हँसी ख़ुशी अपना जेवण बिता रहे हैं.