मानवाधिकार के ठेकेदारों को साइना नेहवाल ने दिया मुंहतोड़ जवाब

2666

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ जब चार युवकों ने दरिं’दगी की तो पूरा देश उबल पड़ा. मोमबत्तियां जलाई गईं, प्रदर्शन किये गए, आरोपियों को कड़ी सजा देने के लिए मुहीम चलाया गया. लेकिन जैसे ही ये चारो आरोपी एक एन’काउंटर में मार गिराए गए मानवाधिकार के ठेकेदार अपने बिलों से बाहर निकल पड़े. इस एन’काउंटर पर सवाल खड़े किये जाने लगे और पुलिस पर उंगली उठने लगी.

लेकिन बैडमिन्टन स्टार साइना नेहवाल ने इन मानवाधिकार के ठेकेदारों को मुंहतोड़ जवाब दिया है. दरअसल जब ये खबर आई कि महिला डॉक्टर के सभी गुनहगार एक एन’काउंटर में मारे गए तो साइना नेहवाल और गीता फोगाट जैसे कई महिला सेलेब्रिटीज ने ख़ुशी का इजहार किया था. तब अन्ना एमएम वेत्तिकाड नाम की एक पत्रकार ने साइना नेहवाल की आलोचना की थी. इस पत्रकार ने साइना की आलोचना करते हुए कहा था कि लाखों लोग उन्हें (साइना) फॉलो करते हैं इसलिए उन्हें ऐसी बातें नहीं करनी चाहिए. इससे समाज पर गलत प्रभाव पड़ेगा.

अब साइना नेहवाल ने इस मानवाधिकार की ठेकेदार तथाकथित पत्रकार को मुंहतोड़ जवाब दिया है. साइना ने ट्वीट कर कहा है कि पीड़िता डॉक्टर पर जो गुजरी, उसके बारे में उनके पास सोचने तक की भी हिम्मत नहीं है. अगर इस घटना के समय पीड़िता के पास बन्दूक होती तो वो भी वही करतीं जो पुलिस ने किया है.

पुलिस चारो आरोपियों को क्राइम सीन रिक्रिएट करने घटनास्थल पर ले गई थी जहाँ उन्होंने पुलिस की बन्दूक छीन कर भागने की कोशिश की तो पुलिस की जवाबी कारवाई में मा’रे गए. जिसके बाद देश भर में पुलिस की कारवाई पर बहस छिड़ गई और कई लोग आरोपियों के मानवाधिकार की बात करने लगे.