साध्वी प्राची ने मुस्लि-मों पर दिया विवादित बयान, PM मोदी को भी दी हितैषी न बनने की नसीहत

2045

अभी कुछ दिनों पहले ही उत्तर प्रदेश के कैराना (शामली) SP के विधायक का एक वीडियो वायरल हुआ था. जिसमें वो कथित तौर पर वो अपने विधानसभा क्षेत्र में लोगों से कह रहे थे  कि भाजपा के जो समर्थक दुकानदारों से सामान न खरीदें. क्यों कि उन लोगों की दुकान से  सामान खरीदने भाजपा वालों की दुकान में सामान बिकता है और उनका घर भी चलता है और तो और वो इस वायरल वीडियो में कथित तौर पर कह रहे हैं कि ‘मेरी आप सभी से यह अपील है.इनसे सामान लेना बंद कर दें तो बीजेपी के लोगों की तबीयत में सुधार आ जाएगा.

Image result for साध्वी प्राची ने कहा की 'हरिद्वार में कांवड़ बनाने वाले मुसलमानों का करें बहिष्कार'
Dailyhunt

खैर इनके इस बयान पर बवाल थमा ही नहीं था,कि अपने विवादित बयानों को लेकर अक्‍सर सुर्खियों में रहने वाली विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी प्राची ने भी अब एक विवादित बयान दिया है.उन्होंने अपने बयाण में कहा कि, जहां मुसलमानों की संख्या ज्यादा होती है, उधर से विवाद पैदा होता है। पहले तो कैराना से हिंदुओं को भगाया। उन लोगों से उनके मकान भी खाली कराए गए और अब यहाँ तक बोला जा रहा है कि हिंदुओं की दुकान से सामान न खरीदें। वैसे हरिद्वार में 99 फीसदी जो मुस्लिम है वो हिंदुओं के लिए कवाड बनाते है तो फिर वहां से उन लोगों को भी निकाल देना चाहिए। तभी हिन्दुओं का रोजगार बड़ेगा और हिंदुओं को रोजगार तभी मिलेगा ,और तो और साध्वी प्राची ने कहा, ‘हम हिंदू हैं, हिंदुस्तान हमारा है और तुम्हारा भी है लेकिन इंसानियत और मानवता के नाते रहो। चोरी करोगे और सीना जोरी भी करोगे तो कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। महात्मा गांधी नहीं बनेंगे। बाबा भोलेनाथ बनकर एक हाथ में माला लेंगे लेकिन आंखें दिखाईं तो दूसरे हाथ में भाला उठाएंगे।

Image result for साध्वी प्राची ने कहा की 'हरिद्वार में कांवड़ बनाने वाले मुसलमानों का करें बहिष्कार'
Navbharat Times

पीएम मोदी को भी दी नसीहत

अपने इन शब्दों को उन्होंने यही नहीं रोका उसके बाद उन्होंने कहा कि आगरा, अलीगढ़ और यूपी के तमाम शहरों में बच्चियों के साथ बर्बरता हुई। यूपी के अंदर बच्चियों के साथ 22 घटनाएं हुई हैं और ये सारी एक खास मजहब के लोगों ने की हैं। और सीधे शब्दों में उन्होंने ये भी बोल दिया कि ‘ये लातों के भूत बातों से मानने वाले नहीं है,और हमारे PM  मोदी जी इनके ज्यादा हितैसी न बनें।

खैर कहना गलत नहीं होगा की इनके इस बयान के सामने आने के बाद भी बवाल बढ़ता ही जायेगा,क्यों की महजबी जुबानी जंग को हवा देने के लिए बहुत से लोग बैठे ही रहते है.किसी का इसमें राजनितिक फायदा होता है तो कुछ लोग आग लगा के अपनी रोटी सकने का काम करते है.