लॉकडाउन के बीच भारत ने चीन सीमा पर 17,000 फुट की उंचाई पर पूरा कर डाला सड़क निर्माण, चिढ़ जाएगा चीन

8993

कोरोना वायरस के कहर के कारण भारत में लॉकडाउन चल रहा है. लेकिन इस लॉकडाउन के बीच भारत ने एक ऐसा काम पूरा कर लिया है जो उसकी सुरक्षा के लिए बहुत जरूरी है, इस कदम से भारत ने चीन से लगती सीमा तक आसान पहुँच बना ली. भारत ने पिथौरागढ़ से लगती चीन की सीमा पर सड़क निर्माण पूरा कर लिया. इस सड़क का निर्माण धारचूला से लेकर लिपुलेख तक किया गया है. ये मार्ग कैलाश मानसरोवर मार्ग के नाम से भी प्रसिद्द है. इस सड़क के निर्माण से कैलाश मानसरोवर यात्रा तो सुगम हो ही जायेगी साथ ही चीन सीमा पर स्थित सेना, आईटीबीपी और एसएसबी तक पहुँच भी आसन हो गई.

सड़क निर्माण पूरा होने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इसका उद्घाटन भी कर दिया. उद्घाटन के बाद उन्होंने कहा कि चीन तक सड़क बनने से भारत मजबूत हुआ है. राजनाथ सिंह कहा कि ये सड़क न सिर्फ धार्मिक बल्कि सामरिक रूप से भी बहुत महत्वपूर्ण है. इस सड़क के निर्माण से चीन सीमा पर स्थित भारतीय चौकियों तक साजो सामान पहुँचाना आसान हो गया है. ये सड़क 6000 से 17000 फुट की ऊंचाई तक बनाया गया है और इसकी लम्बाई 80 किलोमीटर है.

2003 में इस सड़क का निर्माण कार्य आरम्भ किया गया था लेकिन दुर्गम क्षेत्र होने के कारण और विषम भौगोलिक परिस्थितियों के कारण अब जाकर इसका निर्माण कार्य पूरा हो पाया है. इस सड़क के बन जाने से कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने वाले यात्री जल्द ही कैलाश मानसरोवर के दर्शन कर के एक दो दिन में ही लौट सकते हैं