बिहार चुनाव से पहले एनडीए में हो सकती है इस पुराने दोस्त की ‘एंट्री’

309

बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है, एक अक्टूबर को पहले चरण की अधिसूचना भी चुनाव आयोग की ओर से जारी करने की तैयारी है. बिहार के अंदर आ’चा’र सं’हि’ता भी लागू हो जाएगी. जिसके बाद कोई भी पार्टी किसी भी तरह की सौगातों का ऐलान नहीं कर सकती है. आ’चा’र सं’हि’ता लागू होने के बाद और भी बहुत सी बाते इसके अं’त’र्ग’त आती हैं. फिलहाल बिहार के अंदर राजनीति दिन पर दिन ग’र’मा’ती जा रही है. इतना ही नही सीट शेयरिंग को लेकर भी ब’वा’ल मचा हुआ हैं.

बिहार में एनडीए या फिर महागठबंधन हो हर तरफ सीट को लेकर हा’य-तौ’बा मची हुई है. सामने कोई कुछ भी बोले की नहीं हमारी पार्टी में सब ठीक चल रहा है. लेकिन ऐसा है नही. अगर महागठबंधन की बात करें तो वहां पर वामदलों से लेकर रालोसपा और वीआईपी जैसी पार्टियाँ नाराज़ चल रही है. रालोसपा ने तो ये तक ऐलान कर दिया है की वो महागठबंधन का साथ छोड़ देगी और उम्मीद है की दोबारा एनडीए की नाव पर सवार हो जाएगी.

रालोसपा को लेकर पिछले कई दिनों से कायासों का बाज़ार गरम है की उपेन्द्र कुशवाहा कब शामिल होंगे. क्योंकि अब खबर ये आ रही है की सीट शेयरिंग को लेकर बीजेपी से बात चल रही है. सीट बंटवारे का मामला सुलझने के बाद रालोसपा शामिल हो सकती है. इससे पहेल जीतन राम मांझी की पार्टी ‘हम’ ने भी महागठबंधन से किनारा कर लिया था और एनडीए में शामिल हो गई थी. दूसरी तरफ एनडीए के घटकदल में शामिल एलजेपी और जेडीयू के बीच भी सीट को लेकर त’ना’त’नी जारी है.