मध्य प्रदेश के बाद अब बिहार में लगा कांग्रेस को जोरदार झटका, सहयोगी राजद ने दिखा दिया ठेंगा

3879

कांग्रेस अभी मध्य प्रदेश में मिले झटके से उबर भी नहीं पायी है कि बिहार में भी उसे तगड़ा झटका लगा है. कांग्रेस के सहयोगी ही अब उसे आँखे दिखाने लगे हैं. ताजा मामला है राज्यसभा चुनाव का. कांग्रेस को बड़ा झटका देते हुए सहयोगी पार्टी राजद ने बिहार में राज्यसभा की दो सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार दिए. कांग्रेस के लिए ये झटका इसलिए है क्योंकि लोकसभा में कमजोर कांग्रेस राज्यसभा में मजबूत होना चाहती थी. बिहार में कांग्रेस अपने दम पर राज्यसभा का चुनाव नहीं जीत सकती. इसलिए वो लगातार जपने उम्मीदवार के समर्थन के लिए राजद पर दवाब बनाए हुए थी. लेकिन राजद ने कांग्रेस को झटका देते हुए प्रेमचंद्र गुप्‍ता और अमरेंद्र धारी सिंह के नाम की घोषणा कर दी.

बताया जाता है कि राजद ने कांग्रेस से वादा किया था वो उसके उम्मीदवार को राज्यसभा भेजने में मदद करेगी. कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने खुद पत्र लिख कर राजद को उसके वादे की याद दिलाई थी. लेकिन राजद ने न सिर्फ अपने उम्मीदवारों को राज्यसभा भेजने का फैसला किया बल्कि राजद नेता जगदानंद सिंह ने तो शक्ति सिंह गोहिल के पत्र को ही फर्जी करार दे दिया.

आपको बता दें कि लोकसभा में राजद के एक भी सदस्य नहीं है ऐसे में राजद ने राज्यसभा में अपने उम्मीदवार को भेजना जरूरी समझा और कांग्रेस को ठेंगा दिखा दिया. राजद नेता जगदानंद सिंह ने गुरुवार की सुबह ऐलान किया कि आरजेडी का दो सीटों पर हक है. इस बारे में किसी और से बात करने का कोई मतलब नहीं है.