बिहार: आरजेडी विधायक के सुशांत के ‘राजपूत’ नहीं होने के बयान पर भ’ड़’का सत्ता पक्ष, कही ये बात

70

बिहार मे जहां एक तरफ विधानसभा चुना’व होने वाले है वहीं दूसरी तरफ सभी पार्टियां चुनावी मैदान मे उतर आयी है और इसी बीच सुशांत की मौ’त पर भी रा’जनीति और गह’राई हुई है. दरअसल सुशांत सिंह राजपूत की मौ’त को जहां 3 महीने का समय हो गया है. वहीं इस मामले मे सीबीआई जांच चल रही है.

सहरसा से RJD विधायक अरुण यादव का सुशांत सिंह राजपूत की जाति पर सवाल खड़ा करना अब बिहार में चुनावी मु’द्द’ बन गया है. जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने इसी बहाने आरजेडी नेता लालू यादव और तेजस्वी यादव पर नि’शा’ना साधा है. संजय सिंह ने कहा कि आरजेडी का चा’ल, च’रित्र और चेहरा सामने आया है.

इसके बाद इस पर सियासत शुरू हो गई है. आरजेडी के सुशांत वाले बयान को लेकर जेडीयू ने पलटवार किया है. बीजोपी प्रवक्ता ने कहा है कि  ‘आरजेडी के विधायक ने जो बयान दिया है कि सुशांत ‘राजपूत’ का बेटा नहीं तो आज पार्टी का चा’ल, चे’ह’रा च’रि’त्र सामने आ गया है. क्योंकि आरजेडी का संस्कार ही यही है. सुशांत सिंह को किसी जाति विशेष से नहीं जोड़ना चाहिए. क्योंकि वह बिहार का बेटा है और ये लोग भगवान के पास आवेदन देने नहीं गए कि मुझे छ’त्रि’य समाज में ही पैदा करो. मुझे गर्व है कि वो क्ष’त्रि’य समाज में पैदा हुआ. ये आरजेडी के नेता सां’ड़ के तरह हैं. जैसे वो लाल कपड़ा देख भ’ड़’क’ता है, वैसे ही आरजेडी ऊंची जाति को देखकर भ’ड़’क’ती है.’  

इसके बाद उन्होने एक बार फिर से लालू यादव पर नि’शा’ना साधते हुए कहा कि ‘1990 में लालू यादव ने एक नारा दिया था. जिसमें ये कहा गया था कि भूरे बाल साफ करो. अगर बात करें आरजेडी की तो इनका चाल चरित्र कभी बी बदल नही सकता है. जैसा था आज भी वैसा ही है.