गर्लफ्रेंड और प्यार के चक्कर में बुरे फंसे आ’तंकी और फिर हो गया काम त’मा’म

4477

हि’जबु’ल का कमांडर रियाज नाइकू मा’रा गया और एक बार फिर हि’जबु’ल कमांडर का पोस्ट खाली हो गया. सुरक्षा बलों को खबर मिली थी कि रियाज अपने पैतृक गाँव बेगपोरा आया था. उसके आने की सुचना मिलते ही सुरक्षा बलों ने उसे पकड़ने की योजना बना ली थी लेकिन वो मा’रा गया. रियाज पिछले 8 सालों से फरार चल रहा था. उसके सिर पर 12 लाख का इनाम भी रखा गया था. रियाज नाइकू को पकड़ने के लिए राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), केंद्रीय पुलिस बल (सीआरपीएफ) और स्थानीय पुलिस के स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप (एसओजी) की ओर से संयुक्त अभियान चलाया गया था. अपने पैतृक गाँव के प्रति मोह ही रियाज नाइकू को ले डूबा.

2016 में बुरहान वानी के मा’रे जाने के बाद रियाज को हिजबुल का कमांडर बनाया गया था. बुरहान वानी अपनी गर्लफ्रेंड के चक्कर में मा’रा गया था. सिर्फ बुरहान वानी ही नहीं बल्कि कई अन्य आतंकी भी गर्लफ्रेंड और प्यार के चक्कर में सेना के हाथों मा’रे गए. बुरहानी वानी की एक नहीं बल्कि कई गर्लफ्रेंड थी. उसकी बेवफाई से नाराज हो कर एक गर्लफ्रेंड ने सुरक्षा बालों को उसके ठिकाने के बारे में जानकारी दे दी. जिसके बाद बुरहान मा’रा गया था.

बुरहान वानी

ल’श्क’र-ए-तै’यबा का आ’तं’की अबू दुजाना 2017 में एक ए’नका’उंट’र में मा’रा गया था. वो भी अपनी गर्लफ्रेंड के चक्कर ने ही सुरक्षा बालों के हाथ लग गया था. उसने भी अपनी एक गर्लफ्रेड को धोखा दे कर नयी गर्लफ्रेंड बना ली थी. जिसके बाद उसकी पुरानी गर्लफ्रेंड ने सुरक्षा बलों से उसकी मुखबिरी कर दी और अबू दुजाना मा’रा गया.

अबू दुजाना

ल’श्क’र के कमांडर अब्दुल्लाह उनी की तो 4 से 5 गर्लफ्रेंड्स थीं. उसकी मुखबिरी भी उसी एक गर्लफ्रेंड ने ही कर दी थी जिसके बाद 2012 में सोपोर में हुए एक मु’ठभे’ड़ में अ’ब्दुल्ला’ह मा’रा गया. जै’श-ए-मो’हम्म’द के आ’तं’की उमर खालिद की तो 17 गर्लफ्रेंड्स थी. उसकी मुखबिरी भी धोखा खाई उसकी एक गर्लफ्रेंड ने ही की थी. उमर खालिद 2017 में एक मु’ठभे’ड़ में मा’रा गया.