ऋषभ पंत के वीडियो को ललित मोदी ने किया जारी, कहा- शर्मनाक, IPL एक बार फिर सवालों के घेरे में

539

एक बार फिर मैच फिक्सिंग का साया आईपीएल पर पड़ा है। 30 मार्च को दिल्ली कैपिटल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच दिल्ली के फिरोज शाह कोटला ग्राउंड पर खेला गया रोमांचक मैच अब विवादों में है। केकेआर ने उस मैच में दिल्ली कैपिटल्स को 186 रनों का बड़ा टारगेट दिया, लेकिन मुकाबला टाई हो गया. आखिरकार सुपर ओवर में दिल्ली ने बाजी मारी. 

ये मुकाबला एक तरफ तो सुपर ओवर की वजह से सुर्खियों में रहा, तो वहीं दूसरी तरफ ऋषभ पंत का एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें वह विकेट के पीछे खड़े होकर कुछ ऐसा बोलते सुने गए, जिससे विवाद हो गया. उनकी आवाज स्टंप माइक में कैद हो गई.

सोशल मीडिया में वायरल हुए वीडियो में पंत को कहते हुए सुना जा रहा है- ‘ये तो वैसे भी चौका है. और अगली गेंद पर कोलकाता के बल्लेबाज ने चार रन बनाए..

बता दें कि पंत ऐसा तब कहते नजर आए, जब मुकाबला चौथे ओवर में था और केकेआर के रॉबिन उथप्पा बल्लेबाजी कर रहे थे, जबकि संदीप लामिछाने गेंदबाजी. तभी संदीप की अगली गेंद पर उथप्पा ने चौका जड़ दिया, जिसके बाद सोशल मीडिया पर ये कहते हुए वीडियो शेयर किया जाने लगा कि मैच फिक्स था..

यह विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और कई प्रशंसकों का मानना है कि यह घटना दर्शाती है कि मैच पहले से ही फिक्स था क्योंकि पंत को यह कैसे पता चला कि अगली गेंद पर क्या होगा..

इस मैच को लेकर आईपीएल के पूर्व चेयरमैन ललित मोदी ने सोशल मीडिया पर ट्वीट कर मैच फिक्सिंग का दावा किया है..

ललित मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने लिखा, “क्या यह मजाक है, इस पर विश्वास करना मुश्किल है। मैच फिक्सिंग का स्तर शीर्ष पर पहुंच चुका है।” उन्होंने आगे बीसीसीआई और आईसीसी के अधिकारियों पर तंज कसते हुए लिखा कि कब जागोगे। उन्होंने आगे लिखा, “ये बेहद शर्मनाक है कि क्रिकेट के अधिकारियों को इस बारे में कोई चिंता ही नहीं है।”

वहीं बीसीसीआई ने इस आरोप को खारिज करते हुए कहा कि ये सब गलत है। उन्होंने कहा, “पंत ने अपने इस वाक्य से पहले क्या कहा उसे किसी ने नहीं सुना।” दरअसल, वो कप्तान श्रेयस अय्यर से ऑफ साइड पर फील्डर बढ़ाने की बात कह रहे थे, ताकि चौका बचाया जा सके।

बता दें कि दिल्ली ने सुपर ओवर तक गए मैच में तीन रन से जीत दर्ज की थी। 186 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए मेजबान टीम छह विकेट खोकर 185 रन ही बना पाई जिसकी वजह से मुकाबले का नतीजा सुपर ओवर में निकला। युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने मुकाबले में 99 रनों की पारी खेली।

जब कभी भी इंडियन प्रीमियर लीग के इतिहास में अगर रोमांचक मुकाबलों की बात होगी तो इस टूर्नामेंट के 12वें सीजन में दिल्ली कैपिटल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच मुकाबले को जरूर याद किया जाएगा।

बता दें कि BCCI ने श्रीसंत पर IPL-2013 में स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाए जाने पर अजीवन प्रतिबंध लगाया था। इसके खिलाफ श्रीसंत ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। और अब जाकर 2019 में IPL स्पॉट फिक्सिंग मामले में आजीवन प्रतिबंध झेल रहे क्रिकेटर एस श्रीसंत ने आज राहत की सांस ली है। सुप्रीम कोर्ट ने श्रीसंत पर लगे आजीवन प्रतिबंध को हटा दिया है। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने BCCI से श्रीसंत की सजा पर फिर से विचार करने के लिए कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि, BCCI की अनुशासनात्मक समिति एस श्रीसंत को दी जाने वाली सजा को कम करने पर तीन महीने के अंदर फिर से विचार कर सकती है।