भारत में कब थमेगा कोरोना का कहर? सिंगापुर के रिसर्चर ने बताई तारीख जानिए

कोरोना को लेकर देश दुनियाभर की स्थिति बिगड़ती जा रही है. हर दिन हजारों की संख्या में मरीज बढ़ते जा रहे हैं. अभी तक इस गंभीर बीमारी का कोई इलाज नहीं निकल पाया है और सैंकड़ों लोगों की हर दिन जा रही है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना के चलते लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का फैसला लिया. इसके बाद भी स्थिति सुधरती नही दिखाई दे रही है तो हो सकता है लॉकडाउन को और आगे बढ़ाया जाए.

जानकारी के लिए बता दें देश में बीते 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है. जिसके बाद से लोग लंबे समय से घर बैठे हुए हैं. लगातार लॉकडाउन बढ़ने की खबरों के बीच लोगों के मन में यह सवाल तो आना स्वाभाविक है कि देश में इस महामारी का अंत कब होगा और लोग कब तक बाहर निकल पाएंगे? तो इस सवाल का जवाब सिंगापूर के एक रिसर्चर ने देने की कोशिश की है.

दरअसल चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस की रफ़्तार दुनियाभर में बहुत तेजी से बढ़ती गयी. अब इसके मामलों में कमी आ रही है जिसके चलते एक रिसर्च के आधार पर सिंगापूर के रिसर्चर ने बताया है कि भारत समेत दुनियाभर में कोरोना का अंत कब होगा. रिसर्चर के अनुसार भारत में कोरोना का अंत 21-22 मई तक 97 फीसदी खत्म हो सकता है. ऐसा उन्होंने कहा है. वहीँ इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च ICMR ने भी इसी तारीख के आसपास देश से कोरोना संकट खत्म होने की बात कही थी.

गौरतलब है कि ICMR ने अभी हाल ही में कहा था कि भारत में कोरोना पॉजिटिव केस आने की दर पिछले हफ़्तों से 4.5 प्रतिशत बनी हुई है. इतना ही नहीं भारत के गोवा, त्रिपुरा, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश जैसे राज्य कोरोना मुक्त भी हो चुके हैं. सिंगापुर के वैज्ञानिक ने चीन में वायरस के संक्रमण फैलने और वहां से मामले कम होने के आधार पर अपनी रिसर्च का आधार बनाया है. इसके अनुसार चीन में 8 फरवरी से मामले बढ़ने बंद हो गये थे जिसके बाद 27 फरवरी तक आते-आते चीन में कोरोना का 97 फीसदी अंत हो चुका था. वहीँ 4 मार्च तक चीन में 99 प्रतिशत तक वायरस खत्म हो गया और 9 अप्रैल को इस वायरस का चीन से पूरी तरह सफाया हो गया था. सिंगापुर के वैज्ञानिक ने यह अध्यन एसआईआर मॉडल के तहत तैयार किया है. दुनियाभर के अन्य देशों की बात करें तो उन्होंने कहा है कि अमेरिका में कोरोना वायरस 12 मई तक 97 फीसदी, 24 मई तक 99 फीसदी और 27 अगस्त तक पूरी तरह से खत्म हो जायेगा. वहीँ पूरे विश्व से यह वायरस 8 दिसम्बर तक खत्म हो जायेगा, हालाँकि ये सब एक रिसर्च के आधार पर अनुमान है.