जानिए कौन है ये शख्स जो पिछले एक दशक से गणतंत्र दिवस की परेड में कर रहा है कमेंट्री, पीएम मोदी भी हैं दीवाने

747

इस बार राजपथ पर होने वाले गणतंत्र दिवस की परेड के चर्चे हर तरफ हो रहे हैं. हर वर्ष देश के जवान कुछ न कुछ नया करते हैं लेकिन आज हम आपको इस परेड से जुड़े एक ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके पीएम मोदी भी मुरीद हैं. पिछले एक दशक से वह परेड समारोह की कमेंट्री करते आ रहे हैं. रीटा. कर्नल जीवन सिंह का कहना है कि वह हर वर्ष कुछ बेहतर करने का प्रयास करते हैं.

जानकारी के लिए बता दें कर्नल जीवन सिंह की कमेंट्री और आवाज के पीएम मोदी भी दीवाने हैं. उन्होंने एक इंटरव्यू में बातचीत के दौरान कहा है कि हर बार कोशिश यही रहती है कि कुछ नया कर सकूं और बेहतर प्रस्तुति दे सकूं. जिससे वहां मौजूद श्रौता भी इस अवसर पर झूम उठें. उन्होंने कहा है कि 26 की सुबह का इंतजार करें इस बार भी आपको कुछ नया अवश्य मिलेगा.

कर्नल जीवन सिंह जब बोलते हैं तो पूरा देश उन्हें बड़े ही ध्यान से सुनता है, इस बात में कोई संशय नहीं है. उनके बोलने का अंदाज हर किसी में राष्ट्रभक्ति का भाव पैदा कर देता है. 55 वर्षीय रिटायर्ड कर्नल जीवन सिंह गणतंत्र दिवस की परेड में कमेंटर की भूमिका अदा करने को अपना सौभाग्य मानते हैं. जबसे उन्होंने गणतंत्र दिवस की परेड की कमेंट्री का जिम्मा संभाला है तबसे उन्होंने कमेंट्री के ढर्रा को बदलकर एक नया आयाम दिया है.

गौरतलब है कि उनकी जबरदस्त और लेखनी और वाणी का ही कमाल है जो उन्हें सेना के राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रमों की कमेंट्री करने का मौका मिलता है. उन्हें जेके नाम से भी जाना जाता है, अपनी शानदार कमेंट्री के उन्हें सेना की ओर से सम्मानित भी किया गया है. वर्तमान में भी वह झारखंड पुलिस में एसपी स्पेशल टास्क फाॅर्स के पद पर कार्यरत हैं. साल 2003 में उन्होंने शहीद लेफ्टिनेंट त्रिवेणी के स्मरण में आयोजित एक कार्यक्रम में अपने पहले भाषण की उद्घोषणा की थी जिसे लोगों ने जमकर पसंद किया था फिर ये सिलसिला शुरू हो गया. वह अपनी आवाज के साथ वीरता के भी धनी हैं. उन्होंने साल 1993 में कश्मीर के बडगांव में हिजबुल के आतंकी कमांडर को मार गिराया था. उन्होंने बताया है कि पिछले साल फरवरी में पीएम मोदी पूर्व सैनिकों के एक कार्यक्रम में आये थे वहां उन्होंने हाथ मिलाकर मेरी तारीफ़ की और हौंसला बढ़ाया था.