कोरोना की मार झेल रही रिलायंस कम्पनी ने किया बड़ा ऐलान, कहा अधिकारीयों पर गिर सकती हैं गाज़

1571

कोरोना वायरस जैसी महामारी से आज अपने पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है. देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है. देश में कोरोना की वजह से कुछ कम्पनी अपने कर्मचारियों को निकलने की बात कर रही है. तो कुछ कम्पनियों का कहना है कि वो सैलरी में कटौती करेंगी ऐसा कहना है देश की धनी कम्पनी रिलायंस का.

कोरोना वायरस संक्रमण  के बीच देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने सैलरी में कटौती की घोषणा की है. रिलायंस के ‘हाइड्रोकार्बन बिज़नेस में काम करने वाले एंप्लॉयी जिनकी सैलरी 15 लाख सालाना से ज्यादा है, उनकी सैलरी में 10 पर्सेंट की कटौती होगी. हालांकि जिनकी सैलरी उससे कम है, उनकी सैलरी में कोई कटौती नहीं की जायोगी.’

दूसरी तरफ से ये खबर आ रही है कि सीनियर एग्जिक्युटिव की सैलरी में 30-50 पर्सेंट तक की भारी कटौती की जा सकती है. इसके अलावा जो परफॉर्मेंस आधारित बोनस दिया जाता था वो भी अभी नही दिया जायेगा कुछ समय के लिए उसको भी टाल दिया गया है. ये कदम इसलिए उठाया जा रहा है क्योकि इस वक्त पेट्रोलियम की डिमांड काफी घट गई है, लॉकडाउन की वजह से जिसके कारण हाइड्रोकार्बन बिजनस का रेवेन्यू काफी घट गया है.

रीलायंस कम्पनी ने बताया है कि ‘बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स, एग्जिक्युटिव डायरेक्टर और सीनियर लीडर्स के कॉम्पेंसेशन में 30-50 फीसदी तक की कटौती होगी. इस बार रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कॉम्पेंसेशन नहीं लेने का फैसला किया है.’

कंपनी की तरफ से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि ‘कोरोना महामारी के कारण कंपनी को यह मौका मिला है कि वह बिजनस प्रॉसेस को दोबारा आर्गनाइज करें’. आज रिलायंस जैसी कंपनी ने अपने अधिकारीयों की सैलरी में कटौती की शुरुआत कर दी हैं. इसे साफ़ होता हैं की करना वायरस ने देश की इकॉनमी ले लेकर आज कई बड़ी बड़ी कंपनी की भी कमर तोड़ कर रख दी हैं. आज देश एक बहुत बड़ी विपदा को झेल रहा हैं.