पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के बीच बड़ी बैठक, इतने दिनों तक बढाया जा सकता है लॉकडाउन, मिलेगी ये छूट?

4299

लॉक डाउन 4.0 को की मियाद 31 मई तक को समाप्त हो रही हैं.इस चौथे चरण में सरकार की तरफ से काफी ढील दी गई थी जिसकी वजह से कोरोना संक्रमण काफी तेजी से फैला है. जिसको लेकर ये कयास लगये जा आरहें है कि केंद्र सरकार लॉक डाउन 5.0 में छूट कम करेगी या फिर बढाएगी.

केंद्र सराकर ने सभी राज्य सरकार और केंद्रशासित प्रदेशो से उनका ब्लू प्रिंट या कह सकते हो उनसे सुझाव मनगा है कि लॉक डाउन 5 को लेकर. जिसके बाद सरकार उस पर विचार करेगी कि उसको लॉक डाउन 5.0 में क्या करना होगा. केंद्र सरकार ने लॉक डाउन के चौथे चरण में ढील देने की वजह ये भी थी कि क्योकि देश की अर्थव्यवस्था का पहिया जाम पड़ा था जिसको चलाना भी जरुरी था. अनुमान लगाया जा रहा है कि लॉकडाउन 15 दिनों के लिए बढाया जा सकता है. लेकिन साथ ही इसमें छूट का दायरा भी बढाया जा सकता है.

केंद्र सरकार ने लॉक डाउन के चौथे चरण में फ्लाइट को भी मंजूरी दे दी थी और भी बंदिशे कम कर दी गई थी. ताकि अर्थव्यवस्था को भी पटरी पर वापस लाया जा सके. चौथे चरण में दिल्ली मेट्रो को चलने की मांग तेज थी लेकिन उसकी इजाज़त सरकार ने नहीं दी थी. लेकिन अब गृह मंत्री और पीएम मोदी की मीटिंग के बाद ये कयास लगाये जा रहें है कि मेट्रो चलाने की अनुमति दी जा सकती हैं.

आपको बता दें कि अगर लॉक डाउन बढ़ता है. तो सरकार का फोकस उन शहरों पर होगा जहां कोरोना के मामले बहुत ज्‍यादा है. इनमें दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, पुणे, ठाणे, इंदौर, चेन्नै, अहमदाबाद, जयपुर, सूरत और कोलकाता शामिल हैं. जहाँ पर किसी भी तरह की छूट देने के मूड में नहीं हैं सरकार. स्‍कूल-कॉलेज फिलहाल बंद रहने के ही आसार हैं. इंटरनैशनल फ्लाइट्स पर पाबंदी जारी रखी जा सकती है. धार्मिक स्थानों को खोला जाए या नहीं यह फैसला राज्य सरकारों पर छोड़ा जा सकता है. सलून खुल चुके हैं, अब जिम और शॉपिंग मॉल्‍स वगैरह खोलने का फैसला भी राज्‍य सरकारों के हाथ में दिया जा सकता है.