आखिर मुकेश अंबानी क्यों कर रहे हैं कांग्रेस प्रत्याशी का समर्थन, जानिये इसके पीछे की वजह

अंबानी परिवार और प्रधानमंत्री मोदी की नजदीकियों की खूब चर्चा होती है. कांग्रेस इन दोनों की नजदीकियों को लेकर मोदी सरकार को जमकर घेरते हैं. राफेल को लेकर अनिल अंबानी को मिले कॉन्ट्रैक्ट को लेकर कांग्रेस प्रधानमंत्री मोदी पर आरोप लगाती है लेकिन अनिल अम्बानी के बड़े भाई मुकेश अंबानी अब कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में उतर आये हैं. आखिर इसके पीछे क्या कारण हो सकता है? क्यों मुकेश अम्बानी कांग्रेस प्रत्याशी का समर्थन कर रहे हैं. आइये हम आपको बताते हैं.. दरअसल दक्षिणी मुंबई लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे मिलिंद देवड़ा ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है जिसमें मुकेश अंबानी मिलिंद देवड़ा का समर्थन करते दिखाई दे रहे हैं. मुकेश अंबानी ने इस वीडियो में कहा है, ‘‘मिलिंद दक्षिणी मुंबई के ही हैं…मिलिंद को दक्षिणी बॉम्बे के समाज, अर्थशास्त्र और संस्कृति का गहरा ज्ञान है.” इसके साथ ही प्रचार के मकसद से बनाये गये वीडियो को सोशल मीडिया पर मिलिंद देवड़ा ने शेयर करते हुआ लिखा कि ”छोटे दुकानदार से बड़े उद्योगपति तक- दक्षिणी मुंबई में सबके कारोबार का ज़रिया. दक्षिणी मुंबई में हमें कारोबार को फिर से पटरी पर लाना है और नौकरियां पैदा करनी हैं.

युवा हमारी प्राथमिकता में हैं.” ”मुझे पता है कि मुकेश अंबानी और उदय कोटक का समर्थन बाक़ियों के समर्थन की तुलना में लोगों का ध्यान ज़्यादा आकर्षित करेगा. मुझे इनके समर्थन पर गर्व है लेकिन उतना ही गर्व पानवाले, छोटे दुकानदारों, छोटे उद्योगों के समर्थन पर भी है.” मुकेश अंबानी का कांग्रेस प्रत्याशी का समर्थन करना इसलिए भी लोगों के लिए बड़ी बात हो सकती है क्योंकि मुकेश के छोटे भाई अनिल अंबानी को लेकर कांग्रेस हमलावर है. लेकिन सवाल है कि मुकेश अंबानी ने कांग्रेस प्रत्याशी का समर्थन क्यों किया? तो आइये हम आपको बताते हैं. दरअसल मिलिंद देवड़ा के पिता मुरली देवड़ा चार बार सांसद रहे हैं इसके साथ ही वे बड़े व्यापारी भी थे. मुकेश अंबानी के पिता धीरू भाई अंबानी और मिलिंद देवड़ा के पिता मुरली देवड़ा के बीच अच्छे संबंध थे साथ ही दोनों के बीच पारिवारिक रिश्ते भी थे. जब अनिल और मुकेश अंबानी के रिश्ते में कडवाहट आई थी तब मुरली देवड़ा का नाम खूब उछला था.

हालाँकि दोनों भाई मुरली देवड़ा को अंकल कहकर बुलाते थे. अब मुरली देवड़ा के बेटे मिलिंद देवड़ा जो दो बार सांसद रह चुके हैं.. इनका समर्थन करना बड़ी बात नही है … क्योंकि वे एक प्रत्याशी का समर्थन कर रहे हैं नाकि किसी पार्टी या कांग्रेस का.. हालाँकि अब बीजेपी कांग्रेस पर हमलावर हो गयी है. बीजेपी का कहना है कि कांग्रेस एक अंबानी से अपने कैंडिडेट का समर्थन क्यों चाहती है, जबकि वह पहले ही एक और अंबानी पर हमलावर है। यहां पार्टी का इशारा मुकेश के छोटे भाई अनिल अंबानी की तरफ था, जिनके खिलाफ कांग्रेस हमलावर है।

वहीँ मुंबई कांग्रेस बीजेपी के चीफ आशीष शेलार ने कहा, ‘सबको यह आजादी है कि वह जिसके पक्ष में चाहे प्रचार करे। हालांकि, बीजेपी ने चुनाव जीतने के लिए कभी भी किसी बिजनस हाउस का समर्थन नहीं लिया और न ही यह हमारी परंपरा है।’ खैर हर व्यक्ति को अपने हिसाब से पार्टी का समर्थन करने का अधिकार है लेकिन ये बात हमें समझनी चाहिए कि कोई भी कारोबारी किसी पार्टी या नेता का नही होता.. उसे जिस तरफ फायदा होता दिखाई देता है उसी के समर्थन में जाता है.

Related Articles