RBI का बड़ा ऐलान, कोरोना की वजह से बेहाल इस सेक्टर को 50 हजार करोड़ की मदद का ऐलान

895

कोरोना और लॉकडाउन की वजह से कई सेक्टर बुरे दौर से गुजर रहे हैं. और उनकी मदद के लिए RBI लगातार राहत पैकेज का ऐलान भी कर रहा है. जिन सेक्टरों को इस दौरान सबसे ज्यादा संकट का सामना करना पड़ रहा है उनमें से एक है म्यूचुअल फंड सेक्टर. म्यूचुअल फंड पर नकदी का भारी दवाब है. ऐसे में म्यूचुअल फंड सेक्टर की मदद के लिए RBI आगे आया है और बड़ा ऐलान किया है.

RBI ने म्यूचुअल फंड के लिए 50 हजार करोड़ के विशेष नकदी सुविधा का ऐलान किया है. इसके तहत बैंक 90 दिन का फंड भारतीय रिजर्व बैंक के रेपो विंडो से ले सकते हैं और इसका इस्तेमाल सिर्फ म्यूचुअल फंड को कर्ज देने या उनके पास मौजूद कॉरपोरेट पेपर खरीदने में कर सकते हैं. यह योजना 27 अप्रैल से 11 मई तक चालू रहेगी. दरअसल पिछले हफ्ते फ्रैंकलिन टेम्पलटन फंइस ड हाउस ने अपने 6 डेट स्कीम बंद कर दिए थे. जिसकी वजह से निवेशकों के करीब 28 से 30 हजार करोड़ रुपये अटक गए हैं. इसमें बड़े पैमाने पर लोगों का पैसा फंस गया.

पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने RBI के इस फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि 2008 में भी इस तरह का संकट आया था. तब तत्कालीन UPA सरकार ने RBI के साथ मिलकर इस मामले को संभाला था. चिदंबरम ने कहा कि ‘मैंने दो दिन पहले ही चिंता जताई थी, हमारी फिक्र पर आरबीआई ने ध्यान दिया और यह फैसला लिया.’