रविशंकर प्रसाद ने सुनाया किस्सा जब पीएम मोदी ने किया था करीम उल हक एम्बुलेंस बाबा को फ़ोन

308

दिल्ली में 8 फरवरी को विधानसभा चुनाव होने हैं जिसके चलते सभी दलों ने कमर कस ली है और चुनाव के अंतिम समय में जमकर प्रचार-प्रसार कर रहे हैं. इस बीच नेताओं के लगातार बयान और कई किस्से सामने आ रहे हैं. इसी बीच जी न्यूज़ के कॉन्क्लेव #IndiaKaDNA में पहुंचे केंद्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने सुधीर चौधरी से बातचीत करते हुए एक किस्सा सुनाया और बड़ी कही.

जानकारी के लिए बता दें कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने पद्म श्री पुरुस्कार से सम्मानित चाय बागान में काम करने वाले मजदूर करीम उल हक से जुड़ा एक किस्सा सुनाया और पीएम मोदी को लेकर भी उनसे जुड़ी हुई बात बताई जिसे जानकर आप भी सोच में पड़ जाओगे.

रवि शंकर प्रसाद ने एक किस्सा सुनाते हुए कहा ‘इस देश में जितना योगदान हिंदुओं का है उतना ही मुसलमानों को भी है. मुसलमानों के बारे में हमारी सोच क्या है. ये मैं आज साफ कर देना चाहता हूं. जलपाईगुड़ी के करीम उल हक ने एंबुलेस बाबा के रूप में जाने जाते हैं. करीम उल हक चाय बागान में काम करते हैं. मोदी जी ने उन्हें फोन किया और बताया कि हम आप बहुत अच्छा काम कर रहे हैं. हम आपको पद्मश्री से सम्मानित करेंगे. मैं पूछना चाहता हूं कि क्या हम सम्मान किसी का धर्म देखकर देखते हैं?’

गौरतलब है कि अभी हाल ही में मोदी सरकार ने ऐसे कई लोगों को पद्म श्री पुरूस्कार से नवाजा था जिन्होंने देश के लिए कुछ न होते हुए भी महत्वपूर्ण योगदान दिया है. जब ऐसे लोगों को फोन किया गया था तो सभी की अलग-अलग प्रतिक्रिया थी. केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने वहीं नागरिकता कानून का विरोध करने वाले लोगों को कहा कि ‘कोई भी इस कानून की एक धारा बता दे जिससे यह साबित होता हो कि इससे किसी भारतीय की नागरिकता जाएगी.’