केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा ‘चीन याद रखे ये 2020 का भारत है. 1962 का नहीं’

भारत और चीन के बीच एक महीने से मचे वि’वाद को लेकर त’नाव बना हुआ है. जिस पर लगातार दोनों देशों के बीच बात चीत का सिलसिला बना हुआ है. वही अब मंगलवार से दोनों देशों के सैनिक LAC पर से धीरे धीरे पीछे हटने लगे है. हालाँकि भारत ने इस पर साफ़ कर दिया है है कि सीमा पर त’नाव तभी कम होगा जब चीन अपनी पूरी सेना को हटा लेगा.

वही सीमा वि’वाद पर केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज कहा कि चीन को ये याद रखना चाहिए कि ये 2020 का भारत है. 1962 का नहीं. साथ ही उन्होंने कहा कि आज के भारत की अगु’आई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे साहसी नेता के हाथ में है. कांग्रेस के नेताओं के हाथ में नहीं. भारत की तरफ आंख उठाने वाले उरी और बालाकोट में अपना ह’श्र देख चुके हैं.

गौरतलब है 1962 में भारत को चीन से शि’कस्त खायी थी. लेकिन आज भारत पहले से ज्यादा काफी मजबूत है. इसके अलावा इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार से चीन सीमा पर स्थिति स्प’ष्ट करने को कहा था. जिस पर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी वही व्यक्ति हैं जिन्होंने बालाकोट एयर स्ट्रा’इक के भी सबूत मांगे थे.

वही उन्होंने कहा कि चीन के मु’द्दे पर ट्विटर पर सवाल नहीं पूछे जाने चाहिए. जिस पर उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को यह समझना चाहिए कि चीन जैसे अतंर’राष्ट्रीय मसलों पर ट्विटर पर सवाल नहीं पूछे जाने चाहिए.  जिस पर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ये वही राहुल गांधी हैं जिन्होंने बालाकोट एयर’स्ट्राइक और 2016 में उड़ी हम’ले पर सवाल किये थे.

Related Articles