राज्यसभा में मर्या’दा तार तार करने वाले सांसदों को लेकर बोले रवि शंकर प्रसाद, राज्यसभा MP मांफी मांगें तभी…

66

केंद्र सरकार किसानों के हित के लिए कृषि बिल लेकर आई जिसके बाद विपक्ष के नेताओं ने इसका जमकर विरोध किया और भारी हंगामा किया. लोकसभा के बाद अब कृषि बिल राज्यसभा में भी पास हो गए हैं.

जानकारी के लिए बता दें विपक्ष के विरोध के बीच कृषि बिल राज्यसभा में भारी हंगामे के बीच पास हुए लेकिन इस दौरान विपक्ष दल के नेताओं ने सारी मर्यादाओं को तार तार कर दिया, जिसकी हर तरफ आलोचना हो रही है. दरअसल विपक्ष के हंगामे के बीच कृषि नरेंद्र सिंह तोमर जवाब देते रहे लेकिन विपक्ष दल के नेता ने सारी मर्यादा तोड़ दी और राज्यसभा में बिल को छीनने की कोशिश की. जिससे उपसभापति का माइक उखड़ गया. वहीं टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने रूल बुक फाड़ दी थी.

विपक्ष दल के सांसदों द्वारा की गयी इस हरकत के बाद 8 विपक्षी मौजूदा सदस्यों को सत्र के बाकी समय के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव पेश किया. जिसे ध्वनिमत ने स्वीकार कर लिया है. जिसके बाद सभापति नायडू ने कांग्रेस के 3 सांसदों, तृणमूल कांग्रेस और सीपीआईएम के दो दो और आम आदमी पार्टी के 1 सदस्य को बाकी सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया था.

गौरतलब है कि राज्यसभा के विपक्ष दल के सांसदों द्वारा की गई इस हड़कत के बाद अब केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि राज्यसभा के निलंबित सदस्यों द्वारा अपने आचरण के लिए मांफी मांगे जाने पर उनके निलंबन पर विचार किया जाएगा. केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने संसद परिसर में कहा है कि ‘‘ हमें उम्मीद थी कि कांग्रेस राज्यसभा में विपक्षी सदस्यों के ‘‘अमर्यादित” आचरण का विरोध करेगी.”उन्होंने कहा, ‘‘ राज्यसभा के निलंबित सदस्यों द्वारा अपने आचरण के लिए माफी मांगे जाने के बाद ही उनका निलंबन रद्द करने पर विचार किया जाएगा .” इसके आगे उन्होंने कहा ‘‘हमने पहले कभी ऐसा नहीं देखा कि कांग्रेस का कोई सांसद राज्यसभा की टेबल पर चढ़कर नृत्य करे और दस्तावेज फाड़े. ”