दिल्ली पुलिस के शहीद जवान रतन लाल की पो’स्टमा’र्टम रिपोर्ट में स’नस’नीखेज खुलासा, सामने आया मौ’त का कारण

9568

दिल्ली में CAA विरोधी दं’गाइ’यों को हिं’सा फैलाने से रोकने की कोशिश में दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल ने अपनी जा’न कु’र्बान कर दी. उन्हें अंतिम विदाई देने के लिए गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय और दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल भी पहुंचे. दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने उनकी अ’र्थी को कन्धा दिया. इसी बीच शहीद रतन लाल की मौत के बारे में एक सन’स’नीखेज खुलासा हुआ है.

रतन लाल की पो’स्टमा’र्टम रिपोर्ट के मुताबिक़ उनकी मौ’त पत्थर लगने से नहीं हुई बल्कि CAA विरोधी दंगाइयों ने गो’ली मा’र कर उनकी ह’त्या कर दी. जिस वक़्त रतन लाल की ह’त्या हुई उस वक़्त वो भी’षण बुखार के बावजूद भी अपनी ड्यूटी निभा रहे थे और दं’गाइ’यों के सामने डट कर खड़े थे. लेकिन दं’गाइ’यों के सर पर खू’न सवार था. वो एक ऐसे क़ानून के लिए दं’गा कर रहे थे जिससे उनका कुछ लेना देना ही नहीं था. वो एक ऐसे क़ानून के लिए दं’गा कर रहे थे जो अभी तक देश में आया ही नहीं.

शहीद रतन लाल के पार्थिव शरीर को उनके पैत्रिक शहर सीकर ले जाया गया जहाँ उन्हें मुखाग्नि दी जायेगी. हेड कांस्टेबल रतन लाल, विंग कमांडर अभिनन्दन के फैन थे. उन्ही की तरह मूंछे रखी थी. रतन लाल के परिवार ने उन्हें शहीद का दर्जा दिए जाने की मांग की है. दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने कहा कि रतन लाल एक बहादुर जवान थे और उनका जाना दिल्ली पुलिस के लिए बहुत बड़ी क्षति है.