कर्नाटक भाजपा के एक ट्वीट पर भड़क गई पत्रकार राणा अयूब, भाजपा ने दिया मुंहतोड़ जवाब

1125

‘कागज़ नहीं दिखाएँगे’ ये तीन मैजिकल शब्द आपने इन दिनों खूब सुना होगा. CAA, NRC और NPR का विरोध करने के लिए वामपंथी और मुस्लिम समुदाय इन दिनों यही गीत गा रहा है ‘कागज़ नहीं दिखायेंगे’. लेकिन दिल्ली में मतदान के दौरान कागज़ नहीं दिखाएँगे वाले लोग अपने अपने कागज़ ले कर वोट डालने के लिए मतदान केंद्र के बाहर लाइन में लगे दिखे. इस पर कर्नाटक भाजपा ने ट्वीट किया, ‘ये ही कागज़ आपको संभाल कर रखना है NPR के लिए.’

कर्नाटक भाजपा के इस ट्वीट से कई लोगों को मिर्ची लग गई. उन्ही लोगों में से एक है खुद को जर्नलिस्ट बोल कर प्रोपगैंडा फैलाने वाली राणा अयूब. राणा अयूब वाशिंगटन पोस्ट में भारत के खिलाफ प्रोपगैंडा फैलाती है. तो भाजपा का ट्वीट देख मोहतरमा राणा अयूब को मिर्ची लग गई और उन्होंने लिखा, ‘सत्ताधारी पार्टी अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से मुसलमानों को खुल कर ध’म’की दे रही है. क्या दुनिया को और कोई सबूत चाहिए कि नरेंद्र मोदी का एजेंडा मुसलमानों को दोयम दर्जे का नागरिक बनाने का है. हमारे दरवाजे पर हमें ध’म’की दी जा रही है.’

अब किसी को कागज़ संभाल कर रखने के लिए कहना कब से धमकी हो गया ये तो राणा अयूब ही जाने. राणा अयूब के ट्वीट पर कर्नाटक भाजपा ने मुंहतोड़ जवाब देते हुए कहा, ‘अरे घबराओ मत, किसी को कागज़ संभल कर रखने के लिए कहना ध’म’की हो गया? ध’म’की देना आपकी जे’हा’दी दुनिया में होता है. हमारे हिंदुत्व भारत में नहीं. मुस्लिम आपके लिए दोयम दर्जे के नागरिक होंगे. लेकिन पीएम मोदी के लिए भारत के नागरिक हैं.’