फर्जी प्रमाण पत्र मामले में रामपुर कोर्ट ने आजम खान और उनकी पत्नी बेटे को दिया ये बड़ा झटका

सपा सांसद और उत्तरप्रदेश में पूर्व सरकार में मंत्री रहे आजम खान की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. फर्जी सर्टिफिकेट दिखाने के मामले में आजम खान उनकी पत्नी और बेटे अब्दुल्ला आजम को जेल भेज दिया गया है. उनके बेटे अब्दुल्ला आजम की उत्तरप्रदेश विधान परिषद् से सदस्यता भी खत्म कर दी है. अब इसी बीच एक और बड़ी खबर आ रही है. जेल पहुँचने के बाद उन्हें एक के बाद एक बड़े झटके लग रहे हैं.

जानकारी के लिए बता दें उत्तरप्रदेश के जल निगम भर्ती घोटाले में भी आजम खान दोषी पाए गये हैं. एसआईटी ने जांच के बाद शासन को अपनी रिपोर्ट भेज दी है. इसी बीच रामपुर कोर्ट ने मंगलवार को आजम खान उनके बेटे अब्दुल्ला आजम और पत्नी तन्जीन फातिमा की जमानत याचिका खारिज कर दी है. जेल में बंद आजम को बड़ा झटका लगा है. दरअसल दो जन्म प्रमाण पत्र के मामले में आजम और उनके परिवार को जेल भेज दिया गया था.

जमानत खारिज होने के बाद सरकारी वकील राम अवतार सैनी ने बताया कि आजम और उनके परिवार को लेकर मंगलवार को कोर्ट में सुनवाई हुई जिसमें आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम का एक जन्म प्रमाण पत्र रामपुर नगरपालिका से बना हुआ था तो दूसरा लखनऊ से बनवाया गया था. इन दोनों प्रमाण पत्र में डेट ऑफ़ बर्थ अलग-अलग थी.

गौरतलब है कि आजम खान ने अपने परिवार समेत रामपुर कोर्ट में आत्मसमर्पण किया था, दोहरे प्रमाण पत्र से संबंधित जालसाजी के मामले में उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हो गया था. जिसके चलते ही उन्होंने आत्मसमपर्ण किया था. जिसके बाद पहले तो उन्हें रामपुर जेल भेज दिया गया था लेकिन समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं के प्रोटेस्ट करने के चलते उन्हें सीतापुर जेल भेज दिया गया.