370 ह’टने के बाद ज’म्मू क’श्मीर से बड़ी रिपोर्ट आयी सामने

509

केंद्र में जब फिर से मोदी सरकार आयी थी तो केंद्र सरकार ने एक के बाद एक बड़े फ़ैसले लेते हुए विपक्षी दलों को सदमे में पहुंचा दिया था. सरकार ने तीन तलाक के मुद्दे के साथ 370 हटाने जैसे कई अहम फ़ैसले लिए जिनकी हर तरफ चर्चा रही थी. मोदी सरकार ने 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 को हटाया था और जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग-अलग हिस्सों में बांटकर केंद्र शासित राज्य घोषित किये थे.

जानकारी के लिए बता दें केंद्र सरकार के इस फ़ैसले के बाद एक बहुत बड़ी रिपोर्ट सामने आयी है, जिसे जानकर हर चौंक जायेगा. जी हाँ जम्मू-कश्मीर से 370 हटने के बाद सेना ने 32 बड़े आ’तंकि’यों को मा’र गि”राया और साथ ही 10 आ’तंक’वादियों को गिर’फ्तार भी किया. सबसे ज्यादा दिल को सुकून देने वाली बात ये है कि सरकार के इस फ़ैसले के बाद से देश के जवानों की श’हाद’त में कमी आयी है.

जम्मू-कश्मीर की घाटी में हर दिन आ’तं’की ह’मले होते रहते थे जिसमें देश के जवान भी शहीद होते थे लेकिन जबसे मोदी सरकार ने इस फ़ैसले को लिया है तब से अब तक देखा जाए तो सुरक्षाबलों के वीरगति पाने के आंकड़ों में 73 प्रतिशत की कमी आयी है जोकि अच्छी बात है. गृह राज्य मंत्री किशन रेड्डी ने बुधवार को राज्यसभा में इस बात की जानकारी सभी के सामने रखी.

गौरतलब है कि उन्होंने अपनी बात आगे रखते हुए ये भी बताया कि इस दौरान जो भी आ’तंकी घटना हुई उसमें 19 ना’गरि’क भी मा’रे गये. किशन रेड्डी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में मौजूदा समय में 437 लोग निवारक हिरासत में हैं जिसमें कोई भी नाबालिग शामिल नहीं है. इसी के साथ आ’तंकि’यों के समर्थन में पत्थर फें’कने वाले ग्राउंड वर्कर को मिलाकर 6605 लोगों को हिरा’सत में लिया गया है.