लद्दाख में हुई झड़प के बाद रक्षा मंत्रालय की अहम बैठक, जिसमें तीनों सेना प्रमुख रहेंगे मौजूद

532

लद्दाख के हालात पर भारत में राजनीति तेज हो गई है. भारत के राजनीतिक दल हर मौके पर राजनीति करना जानते हैं. जब सरकार और देश के साथ एकजुटता से खड़े होने का वक़्त है. लद्दाख के गलवान घाटी में हुई झड़प के बाद अब भारत सरकार भी एक्शन में आ गयी है. सेना को तो पहले से ही खुली छूट दी हुई है. वहीँ अभी हाल ही में हुई झड़प के बाद दोनों देशों के बीच तनाव का माहौल बना हुआ है. ऐसे में एक बड़ी खबर आ रही है.

जानकारी के लिए बता दें रक्षा मंत्रालय गलवान घाटी में हुई झड़प के बाद अहम बैठक करने जा रहा है जिसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत और तीनों सेनाओं के प्रमुख मौजूद रहने वाले हैं. बताया जा रहा है कि बैठक में लद्दाख के पास चल रही सभी गतिविधियों की समीक्षा की जाएगी. वहीँ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी खुद पूरे हालात पर नजर बनाये हुए हैं. भारत चीन की हर हरकत का मुंहतोड़ जवाब देने को तैयार है.

वहीँ दूसरी ओर खबर ये आ रही है कि भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव के बाद LAC पर हाई अलर्ट कर दिया गया है साथ ही श्री नगर लेह हाईवे को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है. इसी के साथ सरकार ने उत्तरी, पश्चिमी और पूर्वी भारत के हर एयरबेस को हर आपातस्थिति के लिए तैयार किया गया है. वहीँ नौसेना के जहाज भी तैयार हैं और समुद्री क्षेत्र में गश्त तेज हो गयी है.

गौरतलब है कि सरकार हिमाचल के लाहौल स्पीती, उत्तराखंड के चमोली और पिथौरागढ़, अरुणाचल और सिक्किम में भी सेना को पूरी तरह से हाई अलर्ट पर कर दिया है. अब देखना यह है कि रक्षा मंत्रालय द्वारा तीनों सेना प्रमुखों के साथ हो रही बैठक में क्या फैसला लिया जाता है.