कांग्रेस शासित राजस्थान में दलित युवक के साथ द’रिंद’गी, प्रियंका और राहुल ने साधी चुप्पी

5583

कांग्रेस शासित राज्य राजस्थान से एक दिल दह’ला देने वाली खबर आई है. राजधानी जयपुर से करीब 250 किलोमीटर दूर नागौर में सिर्फ 500 रुपये चुराने के इलज़ाम में कुछ लोगों ने न सिर्फ उनको बंधक बना कर मारा पी’टा बल्कि उनके साथ बेहद अ’मान’वीय बर्ताव किया. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जो इतनी वी’भ’त्स और द’र्दना’क है कि हम आपको नहीं दिखा सकते.

घटना रविवार की बताई जा रही है. दो भाई अपनी बाइक की सर्विसिंग कराने पेट्रोल पम्प पर पहुंचे लेकिन वहां के कर्मचारियों ने उनपर 500 रुपये चुराने का आरोप लगाते हुए उनको बंधक बना लिया. उनकी बुरी तरह से पि’टाई की गई और जब उससे भी मन नहीं भरा तो उनके प्राइ’वेट पा’र्ट में पे’ट्रोल डाला गया और स्क्रू ड्राईवर (पेंचकस) भी घुसाया गया.

पी’ड़ित भाइयों ने इस घटना के बाद पुलिस में शिकायत दर्ज की जिसके बाद पुलिस ने 5 लोगों को हिरासत में लिया और जांच शुरू कर दी. सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल हो गया. लेकिन हर मुद्दे पर चीख पुकार मचा मचा कर भाजपा पर निशाना साधने वाले और भाजपा को दलित विरोधी बताने वाले राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी ने चुप्पी साध रखी है.

अगर ये घटना किसी भाजपा शासित राज्य में हुई होती तो अब तक प्रियंका गांधी का ट्वीट आ चूका होता और भाजपा सरकार को दलित विरोधी बताते हुए धरने पर बैठ चुकी होतीं या फिर पी’ड़ितों के घर जा कर फोटो खिंचा चुकी होती. लेकिन चूँकि ये घटना जिस राज्य में हुई है वहां उनकी ही पार्टी की सरकार है तो उन्होंने चुप्पी साधने में ही भलाई समझी. कांग्रेस के दलित नेता उदित राज जिन्हें हर जगह दलितों पर अ’त्या’चार होता हुआ दिख जाता है, इसक घटना के बाद तो मानों अपना ट्विटर पासवर्ड ही भूल गए. राहुल गाँधी तो निर्मोही आदमी है. उन्हें तो इन घटनाओं से कोई मतलब ही नहीं रहता. लेकिन सवाल तो ये है कि क्या किसी वीभत्स घटना की निंदा भी एजेंडा देख कर किया किया जायेगा?