ट्रेन में यात्रा करने से पहले पढ़ लें ये नए नियम, रेलवे ने जारी किये नए निर्देश

934

रेल मंत्रालय ने कोरोना म’हामारी की वजह से लॉक डाउन हो गया हैं. जिसकी वजह से प्रवासी मजदूर जो जहाँ थे वो वहीँ फं’स गए थे. जिनको लेकर केंद्र सरकार ने फं’से हुए मजदूरों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई हैं. ताकि जो मजदूर फं’स गए हैं उनको उनके गन्तव तक पहुँचाया जाये.अब रेलवे ने 1 जून से लगभग 200 के करीब ट्रेन चलाने का ऐलान किया है. जिसमे कई चीज़े बदली हुए नजर आएँगी. अबकी रेलवे ने जनरल बोगी में भी रिजर्वेशन करवाने के बाद ही आप लोग जनरल बोगी में सफ़र करने की इजाज़त होगी. जिनके पास टिकट होगा वही लोग स्टेशन के अंदर प्रवेश करने योग्य माने जायेंगे.

जो ट्रेन चलने जा रही हैं उसमे एसी से लेकर जनरल कोच सभी होंगे और सभी की बुकिंग करवाना अनिवार्या होगा. इस बार जो भी जनरल का ऑनलाइन टिकट लेगा उसको 18 रुपये अधिक देना होगा. जनरल बोगी में जो भी टिकट लेगा उसको सीट नंबर भी आवंटित किया जायेगा. कोरोना से पहले ट्रेन में यात्रा करना एक बहुत बड़ा टास्क था. तब के वक़्त में ट्रेन पूरी तरह से फुल होकर चलती हैं और अब उन्ही ट्रेन में मात्र 900 से 1200 लोग ही सफ़र कर सकेंगे.

रेलवे बोर्ड ने जो संशोधन करने के बाद ये आदेश दिया है कि अब जनरल बोगी में सिर्फ 54 यात्री ही सफ़र कर सकेंगे. जो यत्री टिकट कैंसिल करेंगे और उनको पैसे पुराने रूल के हिसाब से ही वापस दिया जायेगा. यात्रियों को किसी तरह का बेड शीट या कंबल नहीं मिलेगा. उन्हें अपना बेडरोल लेकर जाना होगा. पानी भी यात्री को खुद ही लेकर जाना होगा. 

लॉकडाउन चार में जैसे ही रेलवे ने ऑनलाइन और ऑफलाइन यानि टिकट काउंटर से बुकिंग स्टार्ट करने के बाद ही लोगों का ताँता लग गया टिकट बुक करवाने के लिए. 1 जून से 15 जोड़ी ट्रेन चलने के लिए रेलवे ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सभी तरह की तैयारी कर रखी हैं. लोगों को शर्तों के मुताबिक ही ट्रेन में सफ़र करने का मौका मिलेगा.