रेल मंत्री पियूष गोयल ने जनता से कि भा’वुक अपील, कहा कि ‘हम समझ सकते हैं कि…’

3866

रेलवे ने इस कोरोना सं’कट के बीच श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला कर प्रवासी मजदूरों को उनके गन्तव तक पहुँचाना शुरू किया था. क्योकि कोरोना की वजह से देश के अंदर लॉक डाउन कर दिया गया था जिसकी वजह से जो मजदूर जहाँ था वो वहीँ फं’स गया था. मजदूरों को उनके घर पहुँचाने का बीड़ा रेलवे ने उठाया था. लेकिन अब मजदूरों कि घर वापसी तो हो रही है लेकिन उसके साथ वो कोरोना वायरस को लेकर भी जा रहे हैं.

जिसको देखते हुए रेल मंत्री पियूष गोयल ने जनता से एक भावुक अपील की है. उन्होंने कहा है कि अगर आपका जाना बहुत जरुरी हो तभी आप लोग ट्रेन से सफर करें. इसके साथ ही उन्होंने एक ट्वीट में लिखा है कि ‘मेरी सभी नागरिकों से अपील है कि गं’भीर रो’ग से ग्र’स्त, गर्भवती महिलाएं, व 65 से अधिक व 10 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में बहुत आवश्यक होने पर ही यात्रा करें. रेल परिवार यात्रियों की सुरक्षा के लिए प्रतिब’द्ध है.’

कोरोना वायरस को देखते हुए केंद्र सरकार सभी देशवासियों का पूरा ध्यान रख रही हैं. इन सबके बीच रेल मंत्री पियूष गोयल ने एक प्रेस रिलीज़ भी जारी किया है. जिसमे उन्होंने लिखा है कि ‘भारतीय रेल देशभर में प्रतिदिन कई श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चला रहा है, ताकि प्रवासियों की अपने घरों को वापसी सुनिश्चित की जा  सके. यह देखा जा रहा है कि कुछ ऐसे लोग भी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में यात्रा कर रहे हैं जो पहले से ही ऐसी बी’मारियों से पी’ड़ित हैं. जिससे कोविड-19 महामा’री के दौरान उनके स्वास्थ्य को ख’तरा बढ़ जाता है. यात्रा के दौरान पूर्व ग्रसि’त बीमा’रियों से लोगों की मृ’त्यु होने के कुछ दुर्भा’ग्यपूर्ण मामले भी मिले हैं.’

प्रेस रिलीज में आगे लिखा है- ‘हम समझ सकते हैं कि देश के कई नागरिक इस समय रेल यात्रा करना चाहते हैं  एवं उनको निर्बा’ध रूप से रेल सेवा मिलती रहे, इस हेतु भारतीय रेल का परिवार चौबीसों घंटे, सातों दिन कार्य कर रहा है. पर हमारे यात्रियों की सुरक्षा हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है और इसके लिए सभी देशवासियों का  सहयोग अपे’क्षित है. किसी भी क’ठिनाई या आकस्मि’कता पड़ने पर कृपया अपने रेल परिवार से संपर्क करने में हिच’किचाएं नहीं. भारतीय रेल आपकी सेवा में हमेशा की तरह तत्प’र हैं. (हेल्पलाइन नंबर – 139 & 138).’