राहुल-केजरीवाल के बीच ट्विटर वॉर, गठबंधन पर अभी भी नहीं बन पा रही है बात

270

नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के विजय रथ को रोकने के लिए देशभर में गठबंधन की कवायद जोरों पर हैं..इसी सिलसीले में राजधानी दिल्ली से भी लगातार आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन होने की खबरें आती रहती है, लेकिन गठबंधन होगा या नहीं इसपर अभी तक बात नहीं बनी है..कभी खबर आती है कि दोनों पार्टियों में बातचीत बंद हो गई है तो कभी खबर आती है की लगभग दोनों पार्टियों में गठबंधन तय है..कभी शीला दिक्षित मीडिया को ये बताती है कि केजरीवाल के बढ़ती हुई मांगो के वजह से गठबंधन संभव नहीं है तो कभी केजरीवाल ट्वीटर पर राहुल गांधी को सलाह देते हुए नजर आते है..और एक बार फिर से गठबंधन को लेकर दोनों पार्टियां एक दुसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रही है..

बता दें कि गठबंधन को लेकर दोनों पार्टियों में हां-ना, हां-ना के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने AAP के सामने खुली पेशकश की है..7 सीटों वाली दिल्ली में आम आदमी पार्टी के लिए 4 सीटों की पेशकश करते हुए राहुल ने कहा है कि अब बारी AAP की है..कांग्रेस अध्यक्ष ने केजरीवाल पर यू-टर्न लेने का भी आरोप लगाया है..इसके जवाब में केजरीवाल ने राहुल पर बीजेपी की मदद का आरोप लगाया है..

दरअसल, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि गठबंधन के लिए दरवाजे अभी भी खुले हुए हैं..’दिल्ली में कांग्रेस और AAP के बीच गठबंधन का मतलब है बीजेपी की जबरदस्त हार। कांग्रेस इसे सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली में AAP को 4 सीट देना चाह रही है। लेकिन केजरीवाल ने एक और यू-टर्न ले लिया! हमारे दरवाजे अभी भी खुले हैं, लेकिन समय बीतता जा रहा है, ‘ राहुल ने ट्वीट के साथ ‘अब AAP की बारी’ हैशटैग भी लगाया है..वहीं, राहुल गांधी के जवाब में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि कौन सा U-टर्न? अभी तो बातचीत चल रही थी. आपका ट्वीट दिखाता है कि गठबंधन आपकी इच्छा नहीं मात्र दिखावा है, मुझे दुःख है आप बयान बाज़ी कर रहे हैं..आज देश को मोदी-शाह के ख़तरे से बचाना अहम है..दुर्भाग्य कि आप UP और अन्य राज्यों में भी मोदी विरोधी वोट बांट कर मोदी जी की मदद कर रहे हैं.. इसके बाद आम आदमी पार्टी छोड़ चुके आशुतोष का भी दर्द छलक आया और उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अगर आप वाक़ई में मोदी शाह को हराना चाहते है तो दिल्ली में गठबंधन करिये और हरियाणा चंडीगढ़ में बातचीत करते रहिये । दोनों को लिंक क्यों कर रहे हैं?..

वही, कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी पी.सी. चाको ने कहा कि AAP दिल्ली से बाहर 18 सीटों पर गठबंधन चाहती है..उन्होंने कहा कि पहले दिल्ली पर तो बात हो जाए..चाको ने दो टूक कहा कि एक राज्य में गठबंधन के फॉर्म्युले को दूसरे राज्य में लागू नहीं किया जा सकता..बहरहाल, इस तू-तू और मैं-मैं की लड़ाई का नतीजा क्या होता है ये तो राहुल गांधी और केजरीवाल को ही तय करना है..