पुलवामा आ’तंकी हम’ले की बरसी पर राहुल गाँधी के बयान से बवाल, भाजपा ने किया पलटवार

7120

आज पुलवामा आ’तंकी ह’मले की बरसी है. एक साल पहले आज के ही दिन आ’त्मघाती हम’ले में 40 CRPF जवान शहीद हो गए थे. देश में चुनावों का मौसम था. इस आ’तंकी हम’ले पर खूब सियासी बवाल हुआ. सेना ने एयर स्ट्राइक के जरिये ब’दला लिया. लेकिन इस आ’तंकी हम’ले पर सियासी ब’वाल एक साल बाद भी थमने को तैयार नहीं.

एक बाद इस आ’तंकी हम’ले की बरसी पर देश शोक में डूबा हुआ है. देश शहीदों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है लेकिन राहुल गाँधी ऐसे मौके पर भी राजनीति चमका रहे हैं. शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए उन्होंने सवाल खड़े किये कि इस आ’तंकी हम’ले का सबसे ज्यादा फायदा किसे हुए हुआ?

उनका इशारा पीएम मोदी की तरफ था. सब जानते हैं इस आ’तंकी हम’ले के बाद देश में आये भावनाओं के ज्वार और फिर पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक ने राष्ट्रवाद की ऐसी आंधी चलाई कि विपक्ष का सूपड़ा साफ़ हो गया था और नरेंद्र मोदी दूसरी बार प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापस आ गए थे. इसकी टीस अब तक राहुल गाँधी के मन में है और इसलिए वो सवाल खड़े कर रहे हैं कि इस आ’तंकी हम’ले का सबसे ज्यादा फायदा किसे हुआ?

राहुल गाँधी के इस ट्वीट के बाद भाजपा ने तगड़ा पलटवार किया. भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने कहा. अगर देश पूछेगा कि इंदिरा-राजीव की ह’त्या का किसे फायदा हुआ तो क्या बोलोगे? बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा है कि गांधी परिवार ‘फायदे’ से आगे कुछ सोच नहीं सकता. तो जीवीएल नरसिम्हा ने राहुल को लश्क’र-ए-तैय’बा और जै’श-ए-मो’हम्मद जैसे आ’तंक’वादी संगठनों के प्रति सहानुभूति रखने वाला बताया है.

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट कर राहुल गाँधी पर हम’ला किया. उन्होंने लिखा, ‘वह एक नीचतापूर्ण हम’ला था और यह एक नीचतापूर्ण बयान है. किसे सबसे ज्यादा फायदा हुआ? मिस्टर गांधी क्या आप फायदे से आगे सोच सकते हैं? बेशक नहीं…यह कथित ‘गांधी’ परिवार फायदे से ज्यादा कभी नहीं सोच सकता केवल भौतिकवादी ढंग से भ्रष्ट नहीं, उनकी आत्मा भी भ्रष्ट है.’