राहुल गांधी एक बार फिर फं’से अपने ही आंकड़ो के जा’ल में, संसद में बोल गये कुछ ऐसा

666

कांग्रेस पार्टी से कब कौन क्या बोल देगा पता नही होता है. क्योकि पता नही कांग्रेस नेता खुद क्या बोल देते है ये उन्हे भी नही पता होता है. कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी तो आये दिन संसद के अंदर और बाहर कुछ ना कुछ बोला ही करते हैं. इस फेहरिस्त में कांग्रेस के और भी कई नेता हैं. जैसे की मणीशंकर अय्यर, दिग्विजय सिंह.

अगर आज की बात करें तो कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी  ने आज लोकसभा में बैंक लू’ट का मुद्दा उठाते हुए सरकार को घे’रने की कोशिश की. उन्होंने सरकार से 50 वि’लफु’ल डि’फाल्ट’र्स के नाम पूछे थे. लेकिन बाहर आते आते वो एक बार फिर से आंकड़ो में उलझ गये. लोकसभा में 50 वि’लफु’ल डि’फॉल्ट’र्स का नाम पूछने के बाद संसद के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए राहुल ने एक नहीं कई बार कहा कि उन्होंने ‘500’ डि’फॉल्ट’र्स का नाम पूछा है. इससे पहले कथित रा’फेल घो’टाले को लेकर उन्होंने बार-बार अलग आंकड़े दिए थे. जिस पर कई बार बीजेपी इसको लेकर उनपर तं’ज कसती रही है. राहुल गांधी के लिए ऐसा करना कोई नई बात नही है.

राहुल गांधी ने लोकसभा में कहा, ‘भारतीय इकॉनमी बहुत बु’रे दौर से गुजर रही है. हमारी बैंकिंग व्यवस्था काम नहीं कर रही है. बैंक फेल हो रहे हैं, और मौजूदा वैश्विक हालात में और भी बैंक डूब सकते हैं. इसका मुख्य कारण है, बैंकों से पैसों की चो’री. मैंने पूछा था कि टॉप 50 विलफुल डि’फॉल्ट’र्स हिंदुस्तान में कौन हैं? मुझे जवाब नहीं दिया गया.

संसद से बाहर निकलने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘जब आप संसद में सवाल पूछते हैं तो मंत्री जवाब देते हैं फिर आप दूसरा सवाल पूछते हैं, लेकिन आज मैंने सवाल पूछा, मंत्री ने जवाब नहीं दिया. मैंने पूछा था कि सबसे बड़े 500 डि’फॉल्ट’र्स कौन हैं? एक बात समझ नही आती है कि राहुल गांधी इतनी जल्दी अपनी बातों से पलट कैसे जाते हैं. लेकिन ऐसा कांग्रेस पार्टी में होता रहेता है. तो ये कोई नई बात नही है.