कांग्रेस ने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को दिया ये बड़ा झटका !

एक तरफ महाराष्ट्र में कोरोना के लगातार बढ़ रहे मरीजों ने सीएम उद्धव ठाकरे की मुश्किलें बढ़ा दी हैं तो वहीँ दूसरी ओर राज्य में होने वाले MLC चुनाव के चलते उनकी टेंशन बढ़ती जा रही है. बीजेपी ने महाराष्ट्र में होने वाले एमएलसी चुनावों के चलते एक बार फिर सभी को चौंकाने वाला कदम उठाया है. जी हाँ भाजपा ने एक बार फिर राज्य में दिग्गज नेताओं को दरकिनार करते हुए नए चेहरे को तरजीह दी है. जिसके चलते उद्धव ठाकरे की मुश्किलें बढ़ गयी हैं.

जानकारी के लिए बता दें महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे की मुश्किलें थमने का नाम नही ले रही हैं. उन्हें चुनाव से पहले एक के बाद एक बड़े झटके लगते जा रहे हैं. अब कांग्रेस ने सीएम उद्धव ठाकरे का सिरदर्द बढ़ा दिया है. जी हाँ कांग्रेस ने विधान परिषद चुनाव के लिए कांग्रेस ने दो उम्मीदवारों को मैदान में उतारकर उद्धव ठाकरे को बड़ा झटका दे दिया है.

इस चुनाव में शिवसेना ने उद्धव ठाकरे और गोरे को मैदान में उतारा है वहीँ नीलम गोरे वर्तमान में महाराष्ट्र विधान परिषद् की उपाध्यक्ष हैं. वहीँ एनसीपी भी दो सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने में लगी हुई है. वहीँ भाजपा ने अपने प्रवीन दद्के, गोपीचंद पडलकर, अजित गोपछड़े और रणजीत सिंह पाटिल को प्रत्याशी बनाया है. वहीँ महाविकास आघाड़ी गठबंधन में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी शामिल हैं.

गौरतलब है कि अगर ऐसे में एनसीपी भी मैदान में 2 उम्मीदवार उतार देती है तो ये शिवसेना के लिए बड़ा झटका हो सकता है. 9 विधानसभा सीटों के लिए अगर 10 उम्मीदवार खड़े होंगे तो उद्धव ठाकरे का निर्विरोध चुनाव जीतने के सपने पर पानी फिर जायेगा. वहीँ बताया जा रहा है कि बीजेपी के 4 उम्मीदवार मैदान में आ जाने के बाद उद्धव ठाकरे कांग्रेस और एनसीपी में सीटें बंटवारे को लेकर मना रहे हैं लेकिन कांग्रेस ने अपने 2 उम्मीदवार मैदान में उतारकर उन्हें बड़ा झटका दे दिया है. 21 मई को इन सीटों के लिए विधान परिषद् चुनाव होने हैं.