राहुल गांधी ने शास्त्री भवन में लगी आग का ज़िम्मेदार पी एम मोदी को ठहराया

270

चुनाव के इस मौसम में आरोप प्रत्यारोप कोइ बड़ी बात नहीं है… फिलहाल बयान के साथ-साथ राहुल गाँधी के सिटीजनशिप को ले कर भी काफी चर्चा हो रही है … वही मंगलवार को दिल्ली के शास्त्री भवन में आग लगने पर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर एक बार फिर से निशाना साधा है…. राहुल गांधी ने कहा है कि जलती हुई फाइलें मोदी जी को बचाने वाली नहीं हैं….
वैसे आपको बता दें कि दिल्ली के शास्त्री भवन में मंगलवार को दोपहर तीन बजे के करीब आग लगी थी…

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, ”मोदी जी जलती फाइलें आपको बचा नहीं पाएंगी. आपके फैसले का दिन आ रहा है.”
वहीं शास्त्री भवन में लगी आग पर दमकल विभाग का बयान भी आया है….. दमकल अधिकारी आर मीणा ने बताया कि शास्त्री भवन की सबसे ऊपरी मंजिल पर पुराने सामान और बिजली के तारों में आग लगी थी… पांच से छह दमकल की गाड़ियां मौके पर मौजूद थीं…….

हालांकि, कांग्रेस ने राहुल गाँधी के नागरिकता को लेकर चुप्पी साधे हुए है…लेकिन गृह मंत्रालय ने भाजपा सांसद डॉ सुब्रमण्यम स्वामी के द्वारा एक शिकायत का हवाला दिया है, जिसने एक कंपनी – बैकॉप्स लिमिटेड का हवाला दिया है जो की ब्रिटेन में पंजीकृत है जिसमें राहुल गांधी का नाम है निर्देशक और सचिव के तौर पर लिखा है … साथ साथ जो सबसे गंभीर मुद्दा है वो यह कि राहुल गाँधी को वहाँ का नागरीक ठहराया गया है…….. डॉ. स्वामी ने मुख्य रूप से यह बताया की राहुल गाँधी की जन्मतिथि को सटीक रूप से सूचीबद्ध किया गया है….. मतलब की mention किया गया है…
हालांकि आपको बता दें की राहुल गांधी नागरिकता नोटिस में यह लिखा है कि “पता चला है कि बैकप्स लिमिटेड नाम की कंपनी यूनाइटेड किंगडम में वर्ष 2003 में 51 साउथगेट स्ट्रीट विनचेस्टर, हैम्पशायर S023 9EK के साथ पंजीकृत थी और आप उक्त कंपनी के निदेशकों और सचिवों में से एक थे। आगे बताया गया है कि 10/10/2005 और 31/10/2006 को दायर कंपनी के वार्षिक रिटर्न में, आपकी जन्म तिथि 19/06/1970 दी गई है और आपने अपनी राष्ट्रीयता को ब्रिटिश घोषित किया था, “

हालांकि, उनकी बहन प्रियंका गांधी ने इस मुद्दे पर विरोध जताया और इसे ‘बकवास’ करार दिया….और कहा कि
“पूरा देश जानता है कि राहुल गांधी भारतीय हैं.. वह उनके सामने पैदा हुए थे, उनका पालन-पोषण उनके सामने हुआ था… हर कोई जानता है कि यह क्या है?”

हालांकि क्या सच है और क्या नहीं वो तो जांच के बाद सामने आएगा… फिलहाल आपको बता दें कि शास्त्री भवन में जो आग लगी थी वो छठे तल्ले पर लगी थी जहां कबाड़ का सामान रखता था … भला वहाँ ऐसी कौन सी file राहुल गाँधी की पड़ी थी …
खैर यह तो चुनावी बयान बाज़ी है चुनाव के बाद भी चलती ही रहेगी ….