मजदूरों की घर वापसी को लेकर सियासत तेज, राहुल गांधी ने साधा केंद्र सरकार पर नि’शाना

कोरोना वायरस की वजह से सब कुछ उ’थल पु’थल हो गया है. जिसकी वजह से लोगो को काफी दि’क्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है. कुछ लोग लॉक डाउन की वजह से जगह जगह फं’स गये है. जिसकी वजह से प्रवासी मजदूरों के मु’द्दें ने एक राजनितिक रूप ले लिया है. तो सियासी गलियारों में हलचल भी तेज़ हो गयी है. वही विपक्षी पार्टियां भी एक दूसरे पर इसको लेकर बयान बाजी करने में लगी है.

जिसके बाद एक बार फिर कांग्रेस समेत अन्य कई विपक्षी पार्टियों ने एक बार फिर सरकार पर निशा’ना सा’धा है. जिसमें उन्होंने सरकार पर आरो’प लगाते हुए कहा कि इस सं’कट के व’क्त में भी केंद्र सरकार मजदूरों से टिकट का पैसा वसूल रही है. जिसके बाद से सियासी घमा’सान शुरू हो गया है. जिस पर संबित पात्रा ने प्रियंका गांधी और राहुल गाँधी को जवाब देते हुए कहा कि राहुल गांधी जी, मैंने यहां आपके लिए गृह मंत्रालय की गाइड’लाइन्स दी हैं, जिसमें साफ लिखा है कि स्टेशन पर कोई टिकट नहीं बिकेगा. रेलवे 85 फीसदी सब्सि’डी दे रहा है, राज्य सरकारों को 15 फीसदी सब्सि’डी देनी है.

गौरतलब है. कोरोना से जं’ग के बीच प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुँचने के लिए ही सरकार ने स्पेशल ट्रेन चलायी है. जिसका नाम श्रमि’क ट्रेन रखा गया है. ताकि जो लोग अलग अलग राज्यों में फं’से हुए है. उनको पहुँचाया जा सके. जाहिर है लॉक डाउन की वजह से कई श्रमिक इधर उधर फं’स गए और इसी कारण वो अपने घर तक नहीं पहुँच आये. जब स्थिति ज्यादा ख़राब होने लगी तो सरकार ने श्रमिकों की सहायता के लिए ये स्पेशल ट्रेन चलायी है.