राहुल गांधी ने फिर से कही महिला विरोधी बातें….बुरे फंसे राहुल

389

कोई भी पार्टी अगर चुनाव लड़ती है…..तो उनका एक मुद्दा जो की सबसे सर्वोपरि रहता है वो है महिलाओं की तरक्की….महिलाओं की समानता….ये बाते हर पार्टी अपने प्रचार-प्रसार में जरूर कहती है….लेकिन ये बाते धरातल पर कितना सही है…..ये तो राहुल गांधी के रक्षा मंत्री पर दिए बयान को देखकर आप समझ ही चुके होंगे….की महिलाओं की इज्जत करने की बात करने वाले राहुल गांधी….सच में महिलाओं की कितनी इज्जत करते है….


दुबई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने राफेल मामले पर रक्षा मंत्री को लेकर एक बड़ी बात कह दी….राहुल गांधी ने कहा रक्षा मंत्री “निर्मला सीतारमन की जगह प्रधानमंत्री मोदी को संसद में जवाब देना चाहिए था.”.’वो यही चुप नहीं रहे…..उन्होंने आगे कहा…’56 इंच का सीना रखने वाला चौकीदार भाग गया और एक महिला सीतारमण जी से कहा कि मेरा बचाव कीजिए. मैं अपना बचाव नहीं कर सकता, मेरा बचाव कीजिए’


राहुल गांधी ने ‘महिला’ शब्द का इस्तेमाल करते हुए कहा, ‘ढाई घंटे तक महिला उनका बचाव नहीं कर पाई. मैंने सीधा सवाल किया – हां या ना में जवाब दीजिए लेकिन वह जवाब नहीं दे सकीं.’….
भाई…राहुल जी एक बात बताइये….अगर आप राफेल मुद्दे पर कुछ पुछ रहे है और उसका जवाब हमारे देश की रक्षा मंत्री दे रही है तो इसमें आपको आपत्ती क्यूं हो रही है…कहीं आप ये तो नहीं भूल गए है की राफेल का मुद्दा रक्षा के अंदर आता है…और रक्षा से जुड़े किसी भी बात को करने के लिए रक्षामंत्री को आपसे पुछने की जरूरत नहीं है….भाई राहुल जी एक बात तो आप बता ही दिजीए हमारी सवा सौ करोड़ जनता को की आप राफेल को लेकर इतना सवाल जवाब क्यों करते है जब कोर्ट ने अपना फैसला सुना ही दिया है तो….क्या आप कोर्ट को भी नहीं मानते….महिलाओं की तरह क्या आपको कोर्ट की भी इज्जत नहीं हैं…..


खैर…राहुल जी आपसे इसका जवाब मिलने की जल्द ही उम्मीद करते है…अब आते है अपनी खबर पर और बताते है की आगे क्या हुआ…..राहुल गांधी जी ने तो अपनी बात कह दी जो उनको कहना था लेकिन उसके बाद उनकी इस बात को लेकर लोगों ने उनको ट्रोल करना शुरू कर दिया….राहुल गांधी के इस बयान की कई नेताओं ने आलोचना की थी. दिल्ली महिला आयोग स्वाती मालीवाल और राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा ने भी राहुल के इस बयान की आलोचना की थी….लेकिन राहुल जी जो महिलाओं की इतनी इज्जत करते है ….(sorry sorry) इज्जत करने की बात करते है….वो अब माफी मांगने की जगह अपना बचाव किये है …उन्होंने अपने बचाव में कहा की अगर रक्षा मंत्री का पद कोई पुरुष भी संभाल रहा होता तो उनकी यही टिप्पणी होती….मुझ पर अपनी लैंगिक भेदभाव की मनोवृति मत थोपिए. मैं बिल्कुल स्पष्ट हूं कि प्रधानमंत्री को अपना बचाव रखना चाहिए था लेकिन उनमें साहस नहीं था.’……


राहुल जी को तो अभी तक इतना भी समझ नहीं आया है की उन्होंने ऐसा क्या कह दिया की उनके इस टिप्पणी किए जाने के मामले में महिला आयोग से नोटिस मिल गया है….तभी तो राहुल जी माफी मांगने की जगह….वो अपना बचाव कर रहे है….वो भी ये कह कर…..


भाई अगर कोई महिला अपने मंत्रालय से जुड़े किसी भी चीजों का जवाब दे रही है तो इसमें क्या बुराई है….ये तो अच्छी बात है की कोई महिला स्वंय अपना पक्ष दे रही है….कही राहुल जी इसलिए तो नहीं भड़क रहे है की एक महिला ने बोल कर उनको चुप कैसे करा दिया…..राहुल जी आप जब ऐसे चीजों पर सवाल पुछेंगे तो …..आपको चुप तो होना ही होगा…..