सावरकर पर घमा’सान, भाजपा बोली हज़ार जन्म में भी राहुल गाँधी नहीं बन सकते सावरकर

440

दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस की भारत बचाव रैली थी. इस रैली में राहुल गाँधी अलग ही तेवर में नज़र आ रहे थे. उन्होंने भाजपा और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला. अपने भाषण के दौरान राहुल गाँधी ने रेप इन इंडिया वाले बयान के बारे में कहा कि मे”रा नाम राहुल गाँधी है, राहुल सावरकर नहीं. इसलिए माफ़ी नहीं मांगूंगा.” राहुल गाँधी ने राहुल सावरकर वाले बयान के जरिये वीर सावरकर पर निशाना साधा.

राहुल का बयान भाजपा को चिढाने के लिए था और भाजपा चिढ़ी भी. भाजपा की तरफ से तुरंत पलटवार आया और मोर्चा संभाला गिरिराज सिंह ने. गिरिराज सिंह ने राहुल के गाँधी सरनेम को ही उधार का सरनेम बता दिया. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, “वीर सावरकर तो सच्चे देशभक्त थे. उधार का सरनेम लेने से कोई गांधी नहीं होता, कोई देशभक्त नहीं बनता. देशभक्त होने के लिए रगों में शुद्ध हिंदुस्तानी रक्त चाहिए. वेश बदलकर बहुतों ने हिंदुस्तान को लूटा है अब यह नहीं होगा. यह तीनों कौन है? क्या यह तीनों देश के आम नागरिक हैं?”

संबित पात्रा ने भी राहुल पर हम’ला करते हुए कहा कि राहुल गाँधी हज़ार जनम में भी राहुल सावरकर नहीं बन सकते. उन्होंने कहा, “राहुल गांधी अगर हजार जनम भी ले लें तो भी राहुल ‘सावरकर’ नहीं बन सकते. हां, अगर नाम बदलना ही है तो आज से हम उन्हें राहुल ‘थोड़ा-शर्मकर’ के नाम से बुलाएंगे, जो व्यक्ति मेक इन इंडिया को रे’प इन इंडिया कहता हो उसके लिए यही नाम उचित है.”

राज्यसभा सांसद जीवीएल नरसिम्हा ने राहुल के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “आपके लिए राहुल गांधिी अधिक उपयुक्त नाम राहुल जिन्ना है. आपकी मुस्लिम तुष्टिकरण की राजनीति और मानसिकता आपको सावरकर की नहीं बल्कि मोहम्मद अली जिन्ना की योग्य वसीयतदार बनाती है.