पुलवामा में आ’तंकि’यों के प्लान के बारे में हुआ सनसनीखेज खुलासा, 40 किलो वि’स्फो’टक के साथ ये था आ’तंकि’यों का प्लान

891

सुरक्षा बलों ने पुलवामा में एक बड़ी सा’जिश को नाकाम कर दिया. 40 किलो वि’स्फो’टकों से भरी कार को सुरक्षा बलों ने जब्त किया और उसे जंगलों में जा कर उ’ड़ा दिया. आ’तंकि’यों की बड़ी साजिश को नाकाम करने के बाद जम्मू और कश्मीर के आईजी विजय कुमार मीडिया के सामने आये और उन्होंने खुलासा किया कि इस IED के जरिये आ’तं’की किस दिन आर किसे निशाना बनाने वाले थे?

आईजी विजय कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि ‘हमें पिछले एक हफ्ते से इनपुट मिल रहे थे कि जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर ए तैयबा और हिजबुल मिलकर आ’त्मघा’ती ह’म’ले की फिराक में हैं. इसमें ये कार ब’म का इस्तेमाल कर रहे हैं. कल दिन में हमारी जानकारी पुख्ता हो गई. इसके बाद शाम को पुलवामा पुलिस, सीआरपीएफ, सेना ने कार को ट्रैक करके कई जगह नाका लगाया.’

प्रेस कॉन्फ्रेंस में आईजी ने आगे बताया, ‘नाका पार्टी ने वॉर्निंग फा’यर किया जिसके बाद आ’तंकि’यों ने गाड़ी घुमाकर भागने की कोशिश की. इसके बाद उन्हें दूसरी वार्निंग दी गई जिसमें आ’तं’की अंधेरे में चकमा देकर कार को वहीं छोड़ कर फरार हो गए. हमारी पार्टी ने दूर से देखा और सुबह होने का इंतजार किया. सुबह सेना के साथ ब’म डिफ्युजल की टीम वहां पहुंची और ब’म का पता लगाया. इसके बाद वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी करके ब’म को सुरक्षित तरीके से डिफ्यूज किया गया. इस तरह बहुत बड़ा हादसा होने से टाल दिया गया.’ उन्होंने ये भी बताया कि इनपुट में 25 किलो तक वि’स्फो’टक की बात कही गई थी. लेकिन जिस तरह से कार को वि’स्फो’ट से उड़ाने के बाद आवाज दूर तक गई और मलबा ऊपर उठा उससे अंदाजा लगता है कि कम से कम 40 किलो तक वि’स्फोट’क था कार में.

प्रेस कांफ्रेंस में आईजी विजय कुमार ने बताया कि जंग-ए-बद्र के दिन जैश-ए-मोहम्मद का आ’तं’की इस ह’म’ले को अंजाम देने वाला था लेकिन सेना ने निगरानी बढ़ा दी और बहुत सारी एहतियात बरती गई. सेना की सतर्कता की वजह से वो इस ह’मले को अंजाम नहीं दे पाया.