प्रियंका गांधी के अयोध्या दौरे से शुरू हो गया एक और घमासान, उठने लगे हैं कई सवाल

451

आप तो जानते ही होंगे कि शुक्रवार को कांग्रेस पार्टी में शामिल होते ही सीधे उपाधयक्ष बनी प्रियंका वाड्रा अयोध्या गयी थी. प्रियंका के इस दौरे पर सबकी नजर थी कि वे कहाँ कहाँ कहाँ जायेंगी… क्या क्या बोलेंगी?

खैर पहली बार अयोध्या पहुंची प्रियंका वाड्रा ने लंबा रोड शो किया, इसके बाद we हनुमान गढ़ी दर्शन करने के लिए पहुंची लेकिन उन्होंने रामलला का दर्शन नही किया.. इस पर उन्होंने कहा कि मामला अभी कोर्ट में हैं इसलिए वहां नही गयी… मतलब प्रियंका वाड्रा को भी रामलला के जन्मभूमि को लेकर संशय है. हालाँकि कांग्रेस को ये बात समझने की जरुरत है कि रामजन्मभूमि विवादित नही है लेकिन वहां मन्दिर बनेगा या नही इस पर विवाद है. यहाँ आपको यह भी बताना जरूरी है कि यूपीए की सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एक शपथ पत्र दिया था जिसमें भगवान् राम को किस्से कहानियों का पात्र बताया था. इसमें लिखा गया था कि राम हकीकत में थे या नही इसका कोई प्रमाण नही है. इसपर केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि कांग्रेस को मान लेना चाहिए कि अयोध्या ही भगवान राम की जन्मभूमि है और राम वहीँ पैदा हुआ थे. 

खैर दर्शन-पूजन के बाद प्रियंका गांधी ने महंत प्रेमदास से आशीर्वाद लिया। हालांकि महंत ज्ञानदास से नहीं मिल पाईं। इसके बाद उनका काफिला सीधे लखनऊ रवाना हो गया। हालाँकि इसी बीच प्रियंका वाड्रा एक स्कूल में गयी जहाँ से वोटरों को साधने की कोशिशि की.लेकिन जब प्रियंका गाँधी हनुमान गढ़ी के दर्शन करने के लिए पहुंची तो कुछ ऐसा हुआ जिसकी उम्मीद खुद प्रियंका ने भी नही की होगी.. दरअसल प्रियंका गांधी को देखकर भीड़ ने मोदी मोदी के नारे लगाये… उन्हें बाहर निकालने में पुलिस को बड़ी मुश्किल हो गयी थी.. हालाँकि पुलिस ने थोडा बल का प्रयोग कर लोगों वहां से भगाया और प्रियंका वाड्रा को बाहर निकाला…

लेकिन अब अयोध्या राम जन्म भूमि विवाद के मुस्लिम पक्ष के पैरोंकार इकबाल अंसारी बयान दिया है. जो कांग्रेस के लिए मुसीबत साबित हो सकती हैं. अंसारी ने कहा कि प्रियंका गाँधी को आज तक जनता की याद नही आई. 60 से 70 साल तक देश पर राज करने वाले कांग्रेस ने अयोध्या को दिया ही क्या है? ना कोई मील ना कोई फैक्ट्री… चुनाव आते ही प्रियंका गांधी को अयोध्या की याद आ गयी… चुनाव है ना लेकिन प्रियंका गाँधी ये सुन ले उन्हें यहाँ से कोई फायदा होने वाला नही है. योगी और मोदी के राज में अयोध्या का विकास हुआ है.. अयोध्या में काम हुआ है..अंसारी ने कहा कि अंसानी ने कहा कि यह कांग्रेस ही है जिसकी वजह से आज तक अयोध्या विवाद का हल नहीं हो पाया है। अंसानी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि – कांग्रेस ने हमेशा हिंदू-मुस्लिमों को आपस में लड़वाया । ये पूरा अयोध्‍या विवाद कांग्रेस की ही देन है। अब अयोध्या मामले में गांधी परिवार की बेटी प्रियंका वाड्रा सिर्फ राजनीति करने यहां आई हैं। हालांकि यहां दर्शन और पूजा से उन्हें कोई राजनीति लाभ नहीं मिलने जा रहा है।

वैसे ये बात सोचने वाली जरूर हैं कि इकब्नाल अंसारी ने प्रियंका वाड्रा और कांग्रेस पर निशाना साधना बीजेपी के लिए कुछ हद तक फायदेमंद साबित हो सकता है. यहाँ यह भी जानना जरूरी है कि देश के अधिकतर हिस्सों में प्रियंकावाड्रा पहली बार पहुँच रही हैं. वाराणसी, इलाहाबाद, अयोध्या जा रही हैं क्योंकि चुनाव सर पर हैं और चुनाव में कांग्रेस को फायदा पहुंचाना है, क्योंकि कांग्रेस की हालत खराब है. अब प्रियंका वाड्रा के इस कदम से कांग्रेस को कितना फायदा पहुँचता हैं ये देखने वाली बात होगी… लेकिन सवाल तो यह है कि आखिर गांधी परिवार को राम जन्मभूमि से परहेज क्यों है?

प्रियंका वाड्रा को पूर्वी उत्तर प्रदेश का महासचिव बनाया गया है.. जिसके बाद से प्रियंका लगातार दौरा कर रही हैं और वोटरों को कांग्रेस की तरफ लुभाने में लगी हुई हैं. वहीँ कांग्रेस समर्थक प्रियंका गाँधी की तुलना इंदिरा गाँधी से करते हैं लेकिन अब कुछ लोग प्रियंका गाँधी की तुलना राहुल गाँधी से करने लगे हैं.. ना जाने क्यों?.

अब हम आपको कुछ जरूरी जानकारी देना चाहते हैं कि हिन्दू आतंकवाद शब्द को जन्म देने वाली कांग्रेस आज पलटी मार रही हैं. नेताओं के सुर बदले बदले से लग रहे हैं/ पहली बार हिन्दू आतंकवाद का जिक्र सुशील kumar शिंदे ने किया था इसके बाद दिग्विजय सिंह ने कहा था कि जितने हिन्दू आतंकवादी पकडे गये हैं वो सब आरएसएस से जुड़े हुए है

लेकिन अब अदालत ने उन सभी लोगों को बरी कर दिया है जिनको लेकर कांग्रेस के नेताओं ने हिन्दू आतंकवाद शब्द को गढ़ा था. इसमें साध्वी प्राची और असीमानदं जैसे लोग शामिल है.. इतना ही नही कांग्रेस के नेता अब मंदिर मंदिर घुमते नजर आ रहे हैं. दिग्विजय सिंह. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी, प्रियंका गाँधी सब मंदिर मंदिर भटक रहे हैं क्योंकि ये हिन्दुओं को आकर्षित करने में लगे हुए हैं.