लखनऊ में भीड़ का फायदा उठाकर चोरो ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर किया हाथ साफ़! दर्ज हुई शिकायत

285

सोमवार को कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष रहुक गाँधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा लखनऊ में रोड करने पहुंचे.. इस रोड शो के जरिये कांग्रेस अपनी ताकत अजमाना चाहती थी लेकिन सूत्रों की माने तो इस रोड शो में कांग्रेस को उतनी भीड़ नही आई जितना कि कांग्रेसी नेताओं ने उम्मीद की थी..दरअसल इसी रोड शो के जरिये कांग्रेस प्रियंका गांधी की ताकत को अजमाना चाहती थी. हालाँकि लखनऊ में प्रदेश भर से कार्यकर्ता इकट्ठे किये गये थे जो सडकों के किनारे खड़े तो और रोड शो के लिए तैयार की गयी हाटेक बस के साथ साथ चल रहे थे..इसके बावजूद कई जगहों पर बस के आसपास भीड़ नदारद दिखाई दी…रोड शो के अंत में राहुल गाँधी ने सभा को संबोधित किया लेकिन प्रियंका गाँधी वाड्रा चुप रही हैं. इस कार्यक्रम के बाद अगली सुबह कुछ ऐसी ख़बरें आई जो वाकई आपको भी हैरान कर देंगी. आपको बता दें कि सभा को संबोधित करते हुए राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री चोर हैं के नारे भी लगवाए …लेकिन कुछ चोर इसी रैली में ही मौजूद थे और उन्होंने अपना हाथ साफ़ भी किया…


जानकारी सामने आ रही है कि कांग्रेस के इस हाईटेक रोड शो के बीच में लोगों के मोबाइल फ़ोन चोरी हो गये. चोरो ने इस रोड शो का फायदा उठाकर कई फ़ोन चोरी कर लिए. सोशल मीडिया के जरिये मिली जानकारी के मुताबिक़ लगभग 300 फोन चोरी हुए हैं हालाँकि आज तक की वेबसाइट के मुताबिक़ इस रोड शो में 30 से अधिक मोबाइल फ़ोन चोरी हैं. फ़ोन चाहे 30 चोरी हुए हैं या 300 लेकिन चोरी तो हुई है. राहुल गाँधी ने सभा में कहा कि प्रधानमंत्री चोर हैं और कांग्रेस की कार्यकर्ताओ ने भी राहुल गाँधी की इस बात को दोहराया हो सकता है कि इसी भीड़ में मौजूद चोर भी कह रहा हो कि प्रधानमंत्री चोर हैं. शायद यही हाल है देश का आज जो चोरी कर रहा है वहीँ दूसरों पर आरोप लगा रहा है कि फलाने चोर है.
हालाँकि जानकारी मिली है कि लखनऊ में रोड शो के बाद प्रियंका गांधी सीधे जयपुर गयी…जहाँ अगले दिन प्रियंका गाँधी वाड्रा के पति रोबर्ट वाड्रा से टैक्स चोरी और लन्दन स्थित सम्पत्ति को लेकर पूछताछ होने वाली हैं. जहाँ वे अपनी माँ और पत्नी के साथ ईडी के सामने पेश होंगे. अब यहाँ सोचने वाली बात तो यह है कि प्रियंका के सामने जब राहुल गाँधी प्रधानमंत्री चोर है के नारे लगा रहे थे तो प्रियंका गाँधी के दिमाग में क्या चल रहा होगा… क्या वाकई प्रधानमंत्री चोर है.. या फिर ……..?
अब भैया कितनों का फोन चोरी हुआ है इसका सही आकड़ा अभी तक सामने नही आया है लेकिन चोरो ने हाथ साफ़ किये… क्या चोर कांग्रेस की भेषभूसा में आये थे…फ़ोन चोरी करने के लिए आये चोरो ने अपने काम को आसानी से अंजाम दे दिए अब देखने वाली बात तो यह है कि कांग्रेस इस रैली के जरिये अपना काम करने में कितना कामयाब होती है…विशेषज्ञों की माने तो कांग्रेस ने अपने इस रैली से यह साबित करने में कामयाब हुई कि वो सपा और बसपा के गठबंधन का वोट काटने के लिए तैयार है.