प्रियंका चोपड़ा के ‘जय हिंद’ लिखने पर चिढ़े पाकिस्तानी एक्टर्स

388

सरहदों पे तनाव है, दोनों देशों के लोगो मे उबाल है। इसी क्रम में तनातनी का ये किस्सा अब कलाकारों तक पंहुच चुका है। जिसे जहाँ मौका मिल रहा है अपनी भड़ास निकाल रहा है। कोई खुले मंच से तो कोई सोशल मीडिया पर। लेकिन हर कोई अपना गुस्सा अपनी तकरार जाहिर कर रहा है।दरअसल पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत की तरफ से एयर स्ट्राइक के द्वारा जैश-ए-मुहम्मद के कई आतंकी ठिकानें ध्वस्त कर दिए गए थे और इस पर पूरा देश खुश था और सभी सोशल मीडिया पर खुशी जाहिर कर रहे था. इसी के साथ बॉलीवुड के सेलेब्स भी सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे थे और इसी में शामिल बॉलीवुड की देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा ने भी ट्वीट किया था और जय हिंद लिखते हुए भारत का सपोर्ट किया था. मगर पाकिस्तान को ये बात हजम नहीं हुई. पाकिस्तान द्वारा ऑनलाइन याचिका दायर करते हुए प्रियंका को UNICEF के गुडविल एंबासडर से हटाने की मांग की गई है.

बता दें कि प्रियंका चोपड़ा यूनिसेफ की ब्रांड एम्बेसडर हैं और उन्होंने भारत के सपोर्ट में ट्वीट करने पर उन्हें काफी ट्रोल किया जा रहा है और साथ ही ऑनलाइन याचिका में दावा किया गया है कि प्रियंका गुडविल एम्बेसडर की तरह काम नहीं कर रही हैं क्योंकि उन्होंने दो परमाणु शक्तियों भारत और पाकिस्तान के बीच राजनीतिक विवाद में एक ही देश का पक्ष लिया. भले ही वो भारतीय नागरिक हैं और भारत में जन्मी हैं लेकिन फिर भी उन्होंने ये गलत किया.
प्रियंका के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए पाकिस्तानी एक्ट्रेस अरमीना खान ने लिखा- क्या आपको यूनिसेफ का गुडविल एंबेसडर नहीं माना जाना चाहिए? सभी लोग इसका स्क्रीनशॉट ले लें और अगली बार जब ये शांति और सद्भावना के मुद्दे पर बोलें तो उन्हें उनकी इस हाइपोक्रेसी के बारे में याद दिलाएं। अरमीना खान के अलावा सीरियल ‘जिंदगी गुलजार है’ फेम एक्ट्रेस सनम सईद ने लिखा- ‘निर्दोष लोगों की हत्या की शर्म को ढकने के लिए कोई भी झंडा इतना बड़ा नहीं है।’ अरमीना और सनम सईद की ही तरह कई पाकिस्तानी यूजर्स ने भी ऐसे ही कमेंट किए हैं। पाकिस्तान द्वारा ऑनलाइन याच‍िका दायर करते हुए प्र‍ियंका को UNICEF के गुडविल एंबासडर से हटाने की मांग की गई है.
याच‍िका में कहा गया है कि- ”दो देशों के बीच अगर न्यूक्लियर वॉर होती है तो इससे सिर्फ और सिर्फ त्रासदी ही होगी. UNICEF की ब्रैंड एंबास्डर होने के नाते प्रियंका चोपड़ा को इंडियन एयर फोर्स के फेवर में ट्वीट नहीं करना चाहिए था. एक्ट्रेस को शांति और निष्पक्षता का परिचय देने की जरूरत थी. उनके द्वारा किया ट्विट एक UNICEF की ब्रैंड एंबास्डर होने के नाते गलत है और वो यह पद डिजर्व नहीं करतीं. बता दें कि याच‍िका पर सैकड़ो लोगों के साइन किए हैं. पेटीशन में कहीं भी जैश-ए-मोहम्मद का जिक्र नहीं हुआ है. भारत पाकिस्तान के बीच चल रहे तनाव का असर दोनों देशों की फिल्म इंडस्ट्री पर भी देखने को मिल रहा है. जहां एक तरफ भारत में पाकिस्तानी कलाकारों के आगमन पर रोक लगा दी गई है वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान ने अपने देश में किसी भी भारतीय फिल्म की रिलीज पर बैन लगा दिया है.

खैर पाकिस्तान की तो पुरानी आदत है। बात बात बैन लगाने की। हालांकि बॉलीवुड की फिल्में पाकिस्तान में जितना कमाती होंगी। उससे ज्यादा का हमारे यहां लोग इंटरवल में पॉपकार्न खा लेते है। तो पाकिस्तान के बैन लगाने या न लगाने से कोई फर्क नही पड़ेगा। पूरा इस वक़्त एकजुट है। क्रिकेटर हो , राजनेता हो, एक्टर हो,पत्रकार हो, या किसी भी क्षेत्र से हो जो कोई भी इस वक़्त एकजुटता का प्रदर्शन कर रहा हमे उसके साथ पूरी मजबूती से खड़ा होना होगा। हम प्रियंका चोपड़ा के साथ है। उन्होंने आंतकियो के खिलाफ आवाज़ बुलंद की है। उम्मीद करेंगे ऐसे ही सच के साथ हमेशा खड़ी रहेंगी।