प्रधानमंत्री मोदी का ऐलान : कहा भारत के मेहनती लोगो को आप का इंतज़ार है….

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानि मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समुद्री इंडिया समिट 2021 का उद्घाटन करेंगे. यह आयोजन दो मार्च से चार मार्च तक एक वर्चुअल मंच पर मिनिस्ट्र ऑफ पोर्ट शिपिंग एंड वाटरवेज द्वारा किया जा रहा है. यह शिखर सम्मेलन अगले दशक के लिए भारत के समुद्री क्षेत्र के लिए एक रूपरेखा की संकल्पना करेगा और भारत को वैश्विक समुद्री क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिए कार्य करेगा. कई देशों के प्रख्यात वक्ताओं के शिखर सम्मेलन में भाग लेने और भारतीय समुद्री क्षेत्र में संभावित व्यापार अवसरों और निवेश की तलाश करने की संभावना है. तीन दिवसीय शिखर सम्मेलन के लिए डेनमार्क साझेदार देश है.

50 देशों के एक लाख से ज्यादा प्रतिभागियों ने एमआइएस समिट 2021 के लिए ऑनलाइन पंजीकरण किया है.समुद्री क्षेत्र अपने देश के साथ-साथ विदेशों में भी एक उभरता हुआ क्षेत्र है. बंदरगाहों का आधुनिकीकरण हो रहा है. हमने इस क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देने के लिए मैरीटाइम विजन तैयार किया है. पोर्ट्स, शिपिंग और वाटरवेज मंत्रालय के एक अधिकारी ने एएनआइ को बताया कि एमआइएस 2021 के माध्यम से तीन लाख करोड़ से ज्यादा के निवेश की उम्मीद है और मैरीटाइम इंडिया समिट 2021 के दूसरे संस्करण के दौरान लगभग 400 समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए जाने की संभावना है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा भारत की लम्बी तटरेखा को आपका इंतज़ार है. भारत के मेहनती लोग आपका इंतज़ार कर रहे है.बंदरगाहों में निवेश करे. हमारे लोगो में निवेश करे. भारत को अपना पंसदीदा व्यापर स्थल बनाएं. भारतीय बंदरगाहों को अपने व्यापर और वाणिज्य हेतु बंदरगाह बनाएं. भारत सरकार घरेलू शिप बिल्डिंग और शिप रिपेयर मार्केट पर भी ध्यान दे रही है. घरेलु जहाज निर्माण को प्रोत्साहित करने के लिए हमने भारतीय शिपयार्ड के लिए जहाज निर्माण वितीय सहायता नीती को मंजूरी दी.

Related Articles