अमेरिका में इमरान खान को होना पड़ा जलील, नहीं मिली कार तो ऐसे गए होटल

3854

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने तीन दिनों की अमेरिका यात्रा पर वाशिंगटन पहुंचे लेकिन कदम कदम पर उन्हें जलील होना पड़ा . पहले तो अमेरिका उन्हें ऑफिशियली आमंत्रित ही नहीं करना चाहता था लेकिन सऊदी अरब के के क्राउन प्रिंस के कहने पर अमेरिका ने इन्हें आमंत्रित किया. अमेरिका ने इमरान खान को आमंत्रित तो कर दिया लेकिन रेड कारपेट वेलकम से साफ़ इनकार कर दिया .

जब इमरान खान इकोनोमी क्लास में बैठ कर वाशिंगटन पहुंचे तो वहां उनके स्वागत के लिए ना तो ट्रंप ने अपने किसी मंत्री को भेजा और ना ही किसी अधिकारी को भेजा. पाकिस्तानी दूतावास के अधिकारियों ने ही इमरान खान का स्वागत किया . हालत इतनी ख़राब थी कि इमरान खान के लिए कार का इंतजाम भी नहीं हो पाया और उन्हें मेट्रो से एअरपोर्ट से होटल तक जाना पड़ा .

22 जुलाई को इमरान खान की मुलाक़ात व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति ट्रम्प से होनी है . ट्रम्प सरकार ने पाकिस्तान को दी जाने वाली आर्थिक सहायता में भारी कटौती कर दी है .इमरान का ये अमेरिका दौरा आर्थिक सहायता बहाल करने हेतु ट्रम्प से गुहार लगाने के लिए ही है . लेकिन अमेरिका ने भी साफ़ साफ़ कह दिया है कि पाकिस्तान जब तक आ’तंक के खिलाफ कोई ठोस कारवाई नहीं करता, उसे किसी तरह की कोई सहायता नहीं दी जायेगी . अपनी अमेरिका यात्रा से ठीक पहले ट्रम्प को खुश करने के लिए पाकिस्तान ने हाफिज सईद को गिरफ्तार करने का ड्रामा करना पड़ा .

आर्थिक संकट से गुजर रहे पाकिस्तान की हालत कितनी ख़राब है ये आप इस बात से समझिये कि इमरान खान को क़तर एयरवेज के इकोनोमी क्लास में बैठ कर वाशिंगटन पहुंचना पड़ा . इमरान खान की ख्वाहिश तो थी कि उन्हें अपनी पहली अमेरिकी यात्रा के लिए वैसे ही तवज्जो मिले जैसे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिला था लेकिन इमरान खान की ख्वाहिश अधूरी रह गई और स्वागत के बजाये उन्हें फजीहत झेलनी पड़ी .