संसद में पास होने के बाद कृषि बिलों पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लिया ये बड़ा फैसला

518

देश में कोरोना के कहर के चलते केंद्र सरकार ने जनता को एक के बाद एक बड़ी राहत दी है. सरकार हजारों करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान कर चुकी है और इस महामारी से बचने के लिए लोगों को लगातार जागरुक कर रही है. वहीं इसी बीच केंद्र सरकार ने किसानों को लेकर बड़ा फैसला लिया था.

जानकारी के लिए बता दें केंद्र सरकार ने किसानों के फायदे को देखते हुए तीन कृषि बिल पेश किए. जिसके बाद विपक्षी दलों ने उसका विरोध शुरू कर दिया. काफी विरोध के बाद भी वो बिल सदन में पास हो गए.

बिल का विरोध कर रहे किसानों को लेकर पीएम मोदी ने खुद ये बात बताई कि ये बिल उनके फायदे के लिए लाया गया है. कुछ बिचौलिए लोग किसानों को इस बिल के प्रति भड़का रहे हैं आप लोग किसी की बातों में न आएं. इसके बाद भी विपक्षी दलों ने इन बिलो को राष्ट्रपति से मंजूर न करने के लिए गुहार लगाई थी.

गौरतलब है कि अब इन कृषि बिलों को लेकर रविवार को मानसून सत्र में संसद में पास हुए इन बिलों पर अपनी भी सहमति दे दी है. अब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मुहर के बाद अब ये विधेयक कोरोना काल में 5 जून को घोषित तीन अध्यादेशों की जगह लेंगे.