निर्भ’या के’स के दोषी विनय शर्मा को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का बड़ा झ’टका

5182

निर्भया मामले में दो’षी चारों आ’रोपी फां’सी से बचने के लिए हर उपाय रहे हैं लेकिन एक के बाद एक करके उनके सारे रास्ते बंद होते जा रहे हैं. इस मामले में डे’थ वारंट जारी होने के बाद एक फरवरी को दोषियों को फांसी होनी थी लेकिन अब इससे पहले दोषियों के वकील ने फिर एक याचिका दायर कर दी है जिससे चारों दोषियों को 1 फरवरी को होने वाली फां’सी अब अनिश्चितकालीन के लिए टल गयी है.

जानकारी के लिए बता दें आरोपी विनय शर्मा ने अपनी फांसी रुकवाने के लिए दया याचिका भी दायर की थी. जिसे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बड़ा झटका देते हुए खारिज कर दिया. तिहाड़ जेल में बंद चारों आरोपियों को लेकर दिल्ली के एक कोर्ट ने अगले आदेश तक के लिए फांसी देने पर रोक लगा दी थी. वहीं इन आरोपियों की फांसी टल जाने से निर्भया के परिजनों में भारी गुस्सा है.

निर्भया की मां ने कोर्ट के बाहर रोते हुए कहा कि इस न्याय प्रणाली ने उन्हें बार-बार आरोपियों के आगे झुकने को मजबूर किया. उन्होंने कहा कि जब तक आरोपियों को फांसी नहीं हो जाती तब तक हम लड़ते रहेंगे. वही सुप्रीम कोर्ट के तीन न्यायधीशों की पीठ ने याचिका को खारिज कर दिया था.

गौरतलब है कि एक अन्य आरोपी की याचिका को ख़ारिज करते हुए कहा कि पवन गुप्ता के किशोर होने के मुद्दे पर अदालत पहले ही अपना फैसला ले चुकी है. “हम कितनी ही बार वही बातें सुनेंगे? आप इसे पहले ही कई बार उठा चुके हैं.” दरअसल पवन गुप्ता के नाबालिग होने के चलते पुनर्विचार याचिका दायर की गयी थी जिसे शीर्ष अदालत ने खारिज कर दिया था. फ़िलहाल में अब अब अगले आदेश तक सभी दोषियों की फां’सी रुक गयी है.